फैज़ाबाद: जिले के तारुन क्षेत्र के ककौली गांव में स्थित गौशाला में भूख की वजह से 28 गायों की मौत हो गई. जिसके बाद गौशाला संचालकों ने चुपचाप गायों को गौशाला के पीछे गाड़ दिया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, आवारों गायों से परेशान ग्रामीणों के कुछ दिनों पहले ही सभी गायों को एकत्रित कर गौशाला का निर्माण किया था. जिसके चलते ये गौशाला गैर-पंजीकृत थी. गौशाला में लगभग 400 गौवंश था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ग्रामीणों के अनुसार शुरूआती दिनों में गांववासियों की आर्थिक मदद से गौशाला में चारे-पानी का इंतजाम हो रहा था. लेकिन ये मदद धीरे-धीरे कम होती गई और आखिर में बंद हो गई. जिसकी वजह से गायों को चारा मिलना बंद हो गया.

गौशाला संचालकों ने इसके लिए जिला प्रशासन और सरकार को दोषी ठहराया हैं. उनका कहना है कि इस बारे में पत्र लिखकर चारा और भूसा उपलब्ध कराने के लिए गुहार लगाई है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई.

अब मामला बढ़ता देख जिलाधिकारी ने जिला पशु चिकित्सा अधिकारी को जांच के निर्देश दे दिए हैं. चिकित्सा अधिकारियों ने मौके पर पहुँच कर गौशाला का निरिक्षण किया.

Loading...