Saturday, September 18, 2021

 

 

 

रायपुर दक्षिण से बीजेपी नेता को हराने या जिताने के लिए उतरे 23 मुस्लिम उम्मीदवार ?

- Advertisement -
- Advertisement -

रायपुर. छत्तीसगढ़ में 72 सीटों के लिए होने जा रहे द्वितीय चरण के मतदान में रिकॉर्ड तोड़ कुल 52 मुस्लिम उम्मीदवार अलग अलग सीटों से चुनाव मैदान में हैं। लेकिन रायपुर दक्षिण की विधानसभा सीट चर्चा का विषय बनी हुई है। दरअसल, इस सीट पर 23 मुस्लिमों ने नामांकन किया है।

भाजपा सरकार के मंत्री बृजमोहन अग्रवाल की इस सीट से करीब 46 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें से 23 प्रत्या​शी मुस्लिम हैं। यानी कि कुल प्रत्याशियों का 50 फीसदी मुस्लिम हैं। वहीं रायपुर उत्तर से जहां श्रीचंद सुंदरानी चुनाव लड़ रहे हैं वहां पर सात उम्मीदवार मुस्लिम हैं।

बता दें कि वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव में भी रायपुर दक्षिण से 23 मुस्लिम उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था और उनमे से एक भी अपनी जमानत नहीं बचा पाया था। गौरतलब है कि रायपुर में मुस्लिम मतदाताओं का वोट रायपुर उत्तर और दक्षिण विधानसभा में बंटा हुआ है और इन्हें इतनी बड़ी संख्या में उतरने की वजह से मुस्लिम वोटों के विभाजन की संभावना बढती है।

bjp

पिछले चुनाव में इस सीट पर कुल 1 लाख 37 हजार 433 वोट पड़े थे. इसमें 39 में से 22 मुस्लिम उम्मीदवारों को कुल वोट 5 हजार 151 वोट मिले ही मिले थे। अगर आंकड़ों को देखे तो पता चलता है कि 2008 के बाद में तो बमुश्किल 10 मुस्लिम उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। लेकिन 2013 और फिर 2018 में मुस्लिम उम्मीदवारों की संख्या बढती चली गई।

इस चुनाव में रायपुर दक्षिण सीट से छत्तीसगढ़ सरकार के मंत्री बृजमोहन अग्रवाल का मुकाबला कन्हैया अग्रवाल से हो रहा है, वहीं श्रीचंद सुंदरानी का मुकाबला कांग्रेस के कुलदीप जुनेजा से लड़ रहे हैं। बृजमोहन रायपुर दक्षिण विधानसभा से लगातार चुनाव जीत चुके हैं।

अगर मुस्लिम उम्मीदवारों के आंकड़ों को गौर से देखा जाए तो पता चलता है कि दुर्ग, भिलाई नगर, वैशाली नगर, कवर्धा, बिलासपुर, रायपुर ग्रामीण, रायगढ़ में भी मुस्लिम उम्मीदवार चुनाव मैदान में है। प्रदेश की 90 विधानसभा सीटों में से भाजपा ने किसी भी मुस्लिम उम्मीदवार को चुनाव मैदान में नहीं उतारा है । वही कांग्रेस ने कवर्धा और वैशाली नगर से क्रमश: मोहम्मद अकबर और बदरुद्दीन कुरैशी को टिकट दिया है ।

दिलचस्प यह है कि मुस्लिम मतदाताओं के दम पर उत्तर प्रदेश की सत्ता हासिल करने वाली मायावती ने केवल भिलाई नगर में ही एक मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट दिया है, वहीं अजीत जोगी की जनता कांग्रेस ने किसी भी मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट नहीं दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles