शाहजहांपुर: नाबालिग लड़की से बलात्कार के आरोप में जेल में बंद हिन्दू धर्मगुरु आसाराम पर अब पीडिता को धमकाने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है. आसाराम के अलावा उसकी सहित अन्य 12 लोगों पर पीड़िता के पिता ने मुकदमा दर्ज कराया है.

पुलिस अधीक्षक (नगर) दिनेश त्रिपाठी ने बताया कि गत 22 दिसंबर को शहर में अखबारों के साथ एक पत्रिका को रखकर बांटा गया था, जिसमें दावा किया गया था कि आसाराम पर दुष्कर्म के सभी आरोप गलत हैं और उनके खिलाफ साजिश की जा रही है.

पीड़िता के पिता का आरोप है कि 22 दिसंबर को उनके गृह जनपद शाहजहांपुर में लगभग 20,000 मैगजींस बंटवाई गईं. इस मैगजीन में आदर्श पंचायती राज नाम का एक आर्टिकल छापा गया.

इस आर्टिकल में दावा किया गया कि मिशनरीज और बीजेपी के सदस्यों ने मिलकर लड़की के पिता के साथ मिलकर षणयंत्र रचा और आसाराम के खिलाफ फर्जी रेप का मामला दर्ज करवाया. साथ ही कहा गया कि क्रिस्चन मिशनरीज भारत को क्रिस्चन राष्ट्र बनाने का प्रयास कर रहे थे.

पीड़िता के पिता का कहना है कि ‘आसाराम जेल में बंद हैं लेकिन इसके बाद भी वह अपने गुर्गों के जरिये उनके परिवार को खत्म कराना चाहते हैं. जो पत्रिका बांटी गयी, उसमें किये गये दावे पूरी तरह गलत हैं. यह उनके परिवार के खिलाफ भड़काऊ गतिविधि है. आसाराम के गुर्गों की इस हरकत के बाद उनका परिवार बेहद डरा हुआ है.’

लड़की के पिता की तहरीर पर आसाराम, उनकी बेटी भगवान भारती, अर्जुन, राघव, अजय, हरेंद्र, के सी श्रीवास्तव, देवपाल, सत्यवीर, आशीष, पिंटू तथा घनश्याम समेत 12 आरोपियों पर आईपीसी की धारा 147 (बलवा) और 506 (धमकाना) के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें