students protest at amu
Aligarh: Aligarh Muslim University's Women's College students take out a protest rally in Aligarh on Thursday. PTI Photo (PTI5_3_2018_000171B)

बीते दिनों पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) दौरे के दौरान हिंदूवादी संगठनों की और से किये गए बवाल के बाद उपजा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है.

यूनिवर्सिटी के छात्रों पर हुए पुलिस के बर्बरिया लाठीचार्ज के विरोध में आज हजारों की संख्या में AMU की छात्राएं जांच की मांग और दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर सड़कों पर एकजुट नजर आई.

छात्राओं का कहना है कि अवैध हथियारों से लैस कम से कम 15-20 हिंदूवादी कार्यकर्ताओं ने परिसर में प्रवेश करने की कोशिश की. ये सब कुछ पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की यात्रा के दौरान अंजाम दिया गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

amu 620x400

छात्राओं ने आरोप लगाया कि पुलिस ने हिंदूवादी कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय न्याय की मांग कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज किया. जिसमे कम से कम 20 छात्र बुरी तरह से जख्मी हुए. जो अब भी जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में भर्ती है.

कम से कम 2,000 अन्य एएमयू छात्रों के साथ लड़कियों ने विश्वविद्यालय के बाब-ए-सैयद गेट पर एकत्रित होकर सरकार और प्रशासन के खिलाफ नारे लगाए. एएमयू के प्रवक्ता, उमर पिरजादा ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन इस टेस्ट टाइमिंग में छात्रों के साथ खड़ा है.

वहीँ पीएचडी स्कॉलर कुलसुम सलाहुद्दीन ने कहा, “हम मांग करते हैं कि एएमयू को ऐतिहासिक और धर्मनिरपेक्ष संस्थान के रूप में पेश किया जाए, जैसे कि यह हमेशा से रहा है.”

Loading...