pritam_munde-020_1413874968_1413874976_600x315

मुंबई के एक इलाके में एक कार से 10 करोड़ 10 लाख रुपए की बरामदगी हुई हैं. इनमें से 10 करोड़ की कीमत के 500 के पुराने नोट और 10 लाख के 2000 के नए नोट शामिल हैं.

इस मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को हिरासत में लिया. ये रकम पुणे ले जाई जा रही थी. ये पैसा बीजेपी के दिग्गज नेता रहे गोपीनाथ मुंडे की बेटी प्रीतम मुंडे का बताया जा रहा हैं. प्रीतम मुंडे महाराष्ट्र की बीड लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद हैं. हालांकि प्रीतम मुंडे ने दावा करते हुए कहा है कि यह रुपया उनका है और उसका पूरा हिसाब उनके पास है.

सांसद प्रीतम मुंडे वैद्यनाथ को आपरेटिव बैंक की संचालिका हैं और उनका दावा है कि यह पैसा को-आपरेटिव बैंक का है. वैद्यनाथ शहरी सरकारी बैंक के डिप्टी जनरल मैनेजर विनोद खर्चे ने एक बयान जारी कर कहा कि मुंबई पुलिस ने 10 करोड़ 10 लाख की जो रकम पकड़ी है वो वैद्यनाथ बैंक की है और उसका पूरा हिसाब बैंक के पास है.

उन्होंने आगे कहा, नोटबंदी के बाद बैंक की अलग-अलग शाखाओं में ग्राहकों ने ये पैसे जमा कराए थे. 17 नवंबर को 25 करोड़ की रकम घाटकोपर ब्रांच भेजी गई जिनमें से 15 करोड़ वहां जमा कर दिए गए. बाकी बची 10 करोड़ की रकम को वैद्यनाथ बैंक की पिंपरी चिंचवाड शाखा लाया जा रहा था. इसे बाद में पुणे के एक बैंक में जमा कराया जाना था.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें