राजस्थान के डूंगरपुर में शिक्षक भर्ती-2018 (Teacher Recruitment -2018) में टीएसपी क्षेत्र के अनारक्षित 1167 पदों को एसटी अभ्यार्थियों से भरने की मांग को लेकर जारी प्रदर्शन हिंसक हो गया है। शनिवार को पुलिस की गोलीबारी (Police Firing) में एक युवक की मौत हो गई और एक अन्य नाबालिग किशोर घायल हुआ है।

फायरिंग में काचरा फला घाटा खेरवाड़ा निवासी 22 वर्षीय तरुण की गोली लगने से मौत हो गई है। वहीं, फायरिंग के कारण 13 वर्षीय पोगरा निवासी अल्पेश को भी पेट पर गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल बालक को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

प्रदर्शनकारियों ने अभी भी उदयपुर-अहमदाबाद हाईवे को बहाल नहीं होने दिया है। डूंगरपुर के पास दोवड़ा में सुबह करीब 4 बजे कॉलोनी में खड़ी एक कार में आग लगा दी गई। इससे पहले देर रात कुछ उपद्रवी हाइवे के पास बनी श्रीनाथ कॉलोनी में घुस गए थे। यहां बड़ी मात्रा में तोड़फोड़ की गई। कई घरों के शीशे तोड़ दिए गए। कार और बाइक को आग के हवाले कर दिया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए अशोक गहलोत की सरकार ने तीन वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को डूंगरपुर के लिए रवाना कर दिया है, ताकि स्थिति को नियंत्रित किया जा सके। DG एमएल लाठर, एडीजी दिनेश एमएन और पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव डूंगरपुर के लिए रवाना हो गए हैं।

इसी बीच सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा है कि उदयपुर डूंगरपुर जिलों में हिंसक प्रदर्शन की स्थिति दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने प्रदर्शनकारियों से शांति बनाए रखने और कानून-व्यवस्था को भंग नहीं करने की अपील है। गहलोत ने कहा है कि सरकार प्रदेश के हर वर्ग के हितों की रक्षा के लिए संकल्पबद्ध है। हम समाज के किसी भी वर्ग की कानून-सम्मत व न्यायोचित मांगों पर विचार करने और संवाद के लिए हर समय तैयार हैं।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano