लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत सबको चौकाने वाली तो पहले से ही हैं. लेकिन बीजेपी को मिलने वाला वोट प्रतिशत भी चौकाने वाला हैं.

बीजेपी ने यूपी की 115 मुस्लिम बहुल इलाको वाली विधानसभा सीटों पर भी सबसे बेहतर प्रदर्शन किया. बीजेपी के इस प्रदर्शन ने सपा कांग्रेस गठबंधन और बसपा को भी पीछे छोड़ दिया. ऐसे में ये धर्मनिरपेक्षता का दावा करने वाली पार्टियों के लिए बड़ा झटका साबित हुआ हैं.

सांप्रदायिक हिंसा प्रभावित मुजफ्फरनगर की सभी सीटों से लेकर देवबंद, बरेली, बिजनौर और मुरादाबाद में भी भाजपा को जमकर वोट मिले हैं. जिससे खुद बीजेपी भी हैरान हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पश्चिमी और पूर्वी उत्तर प्रदेश में 115 सीटें ऐसी हैं जहां मुस्लिम मतदाता बड़ी संख्या में हैं. इस सीटों का पारंपरिक वोट बैंक हमेशा से सपा और बसपा का ही रहा हैं. लेकिन इस बार बीजेपी ने इस में भी सेंधमारी की हैं.

2012 के विधानसभा चुनाव में सबसे अधिक 65 सीट सपा को मिली थीं. लेकिन इस बार केवल 22 सीट मिली. सपा को 43 सीट का नुकसान हुआ है. जबकि 2012 में बसपा को 16 सीट मिली थीं और उसे इस बार आठ सीट का नुकसान उठाना पड़ा है. कांग्रेस सात सीट पर रही थी और उसे पांच सीट का नुकसान हुआ है. वहीं भाजपा को 2012 में 22 सीटें मिली थीं, जो इस बार बढ़कर 83 हो गई है.

Loading...