दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट परिसर में वकीलों और पुलिस के बीच दो नवम्बर को हुई झड़प को लेकर अब भी धरने-प्रदर्शन जारी है। इसी बीच एक अजीब मामले सामने आया है।

दरअसल, दिल्ली के दरियागंज इलाके में पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही थी। तभी बिना हेलमेट पहने एक युवक बाइक लेकर आ रहा था। पुलिस ने उसे चेकिंग के लिए रोक लिया। बिना हेलमेट टोकने और कागज मांगने से गुस्साए बाइक सवार ने अपने वकील भाई की धौंस देते हुए तीस हजारी कोर्ट की याद दिला दी।

जिसके बाद पुलिसकर्मियों ने चालान में युवक की अमर्यादित भाषा का जिक्र करते हुए लिखा कि मेरा भाई वकील है, और उसने तुम लोगों (दिल्ली पुलिस) को अभी पीटा था। मैं तुम सब को देख लूंगा। चालान को आगे की कार्रवाई के लिए तीस हजारी कोर्ट भेजा गया है। पुलिस ने युवक का न चालान काटा बल्कि उसकी बाइक को सीज भी कर दिया। चालान को तीस हजारी कोर्ट के जिला दंडाधिकारी पंकज अरोड़ा की कोर्ट में भेज दिया गया है।

दूसरी और दिल्ली की जिला अदालतों के वकीलों ने बुधवार को भी कामकाज का बहिष्कार जारी रखा। ‘ऑल डिस्ट्रिक्ट कोर्ट बार एसोसिएशन की समन्वय समिति के महासचिव धीर सिंह कसाना ने बताया कि सभी जिला अदालतों के वकील बुधवार को पटियाला हाउस से इंडिया गेट तक मार्च कर सकते हैं।

कसाना ने कहा, ”हमारे सहयोग के बावजूद, वकीलों पर गोली चलाने वाले पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार करने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए। इसलिए दिल्ली की सभी जिला अदालतों में पूरी तरह कार्य बहिष्कार जारी रहेगा। हमारी मांग थी कि वकीलों पर गोली चलाने वाले पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया जाए। पुलिस अधिकारियों ने इसका विरोध किया। इसलिए हम काम का बहिष्कार कर रहे हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन