Saturday, December 4, 2021

पाकिस्तानी मीडिया में भी हो रही है मोहम्मद शमी की चर्चा

- Advertisement -

ICC T-20 वर्ल्ड कप, 24 अक्टूबर के मैच में पाकिस्तान से भारत की 10 विकेट से शर्मनाक हार के बाद टीम इंडिया के गेंदबाज़ मोहम्मद शमी को ऑनलाइन ट्रोल किया गया था। ज़्यादातर ट्रोलर उनको धर्म के कारण निशाने पर ले रहे थे। आज के ज़्यादातर अख़बारों ने मोहम्मद शमी के समर्थन में आए भारत के पूर्व क्रिकेटरों को प्रमुखता से जगह दी है। कोलकाता से प्रकाशित होने वाले अंग्रेज़ी दैनिक द टेलीग्राफ़ ने लिखा है कि जिस दिन संजीव गोयनका और एक इन्वेस्टमेंट फ़र्म ने 1.7 अरब डॉलर में दो आईपीएल टीम ख़रीदने की घोषणा की उसी दिन कुछ भारतीय उस चीज़ में लिप्त थे जो राष्ट्रीय टाइम पास बनता जा रहा है।

सचिन और सहवाग ने मोहम्मद शमी का समर्थन किया तो कइयों ने भारत में बढ़ते सांप्रदायिक हमलों के सामान्य बात होने के पीछे के कारणों की चर्चा की। टेलीग्राफ़ ने लिखा है कि पॉप म्यूज़िक की जानी-मानी हस्ती रिहाना ने जब भारत में किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट किया था तो सचिन का आधिकारिक रुख़ उनकी छवि के बिल्कुल उलट था। सचिन ने सोमवार को मोहम्मद शमी के समर्थन में लिखा, ”जब हम टीम इंडिया का समर्थन करते हैं तो उन सभी का समर्थन करते हैं जो टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व कर रहे होते हैं। मोहम्मद शमी प्रतिबद्ध और विश्व स्तर के गेंदबाज़ हैं.”

भारत के ऑफ़ स्पिनर रहे हरभजन सिंह ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ”शमी के ख़िलाफ़ जैसी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही हैं, वो बेहद बकवास है. शमी चैम्पियन हैं और हमारे लिए गौरव हैं। उन्होंने कई मैच जीतने में अहम भूमिका अदा की है और हमें गौरवान्वित किया है.”

शमी को ऑनलाइन ट्रोल किए जाने की ख़बरें पाकिस्तानी मीडिया में भी प्रमुखता से छपी हैं. पाकिस्तान के प्रमुख अंग्रेज़ी अख़बार डॉन ने लिखा है कि पाकिस्तान से बुरी तरह से हारने के बाद भारतीय टीम में एकमात्र मुस्लिम खिलाड़ी को निशाने पर लिया गया।

अख़बार ने लिखा है कि भारत की हार के बाद मुसलमानों के ख़िलाफ़ हिंसा की कई घटनाएं हुई हैं। 31 साल के शमी सबसे मुख्य टार्गेट बने हैं जबकि भारतीय कप्तान विराट कोहली ने मैच के बाद की प्रेस कॉन्फ़्रेंस में ख़ुद ही कहा कि पाकिस्तान ने बेहतरीन खेल दिखाया है। डॉन ने लिखा है कि शमी के इंस्टाग्राम अकाउंट पर सैकड़ों मैसेज किए गए हैं जिनमें उन्हें ग़द्दार बताया गया है और टीम इंडिया से बाहर करने की मांग की गई है।

पाकिस्तान के लोगों ने भी शमी के ख़िलाफ़ सांप्रदायिक प्रतिक्रिया को लेकर अपनी आपत्ति दर्ज कराई है. पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनज़ीर भुट्टो के परिवार से ताल्लुक रखने वाली लेखक फ़ातिमा भुट्टो ने ट्वीट कर कहा है, ”अपने ही मुल्क में शमी के साथ घिनौनी नफ़रत को देख मैं भयभीत हूँ. ऐसा लगता है कि नफ़रत की सड़ांध का संक्रमण हर जगह है. यहाँ तक कि हम मैच भी हारते हैं तो पाकिस्तानी प्रशंसकों में हास्य और ख़ुद का ही मज़ाक बनाते हुए देखा जा सकता है.”

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles