एक्सीडेंट में घायल विनोद के लिए मसीहा बनकर पहुंची शबाना दाऊद और बचायी जान

कोहराम न्यूज़ नेटवर्क –  स्पेशल न्यूज़ – जहाँ एक तरफ कुछ लोग मात्र धर्म के नाम पर एक दुसरे समुदाय को भड़काते है वहीँ कुछ लोग इस दुनिया में ऐसे भी है जिन्हें इन सब बातों से कोई मतलब नही है. उनके लिए मानवता सबसे बड़ा धर्म है.

ऐसा ही कुछ हुआ बिहार के भागलपुर से पटना जाने वाले रास्ते पर जहाँ विनोद नाम का एक शख्स बुरी तरह घायल अवस्था में कराह रहा था जिसे बुलेरो टक्कर मारकर भाग गयी थी. उसके लिए अचानक से शबाना दाऊद एक मसीहा बनकर पहुँच गयी और विनोद को तुरंत अस्पताल पहुंचाया. इस मामले को शबाना दाऊद ने अपनी फेसबुक वाल पर शेयर किया. कोहराम न्यूज़ पर वैसे इस तरह की स्टोरी प्रकाशित होती रहती है लेकिन इस खबर को उन्ही की ज़ुबानी पढ़ते है.

कल 2 जून जिंदगी का अजूबा दिन रहा जब मैं भागलपुर से पटना जा रही थी ..सुबह के 6.54 .. चम्पानाला पुल से कूछ दूरी पर एक नवयुवक जिसका नाम विनोद चौधरी रोड के बगल के नाला में बेहोशी और घायल अवस्था में कराह रहा था .जैसे मेरी नज़र उस नवयुवक पर पड़ी मैंने शोर मचाया और गाँव के लोग जमा होगये ..तुरंत गाँव वालों की मदद से ऑटो रोक नवयुवक को भागलपुर के जवाहर लाल मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल मयागंज सदर अस्पताल भेज कर हॉस्पिटल सुपरिटेंडेंट को फोन कर दिया ..शयद विनोद के कूल्लेह की हड्डी टूट चुकी है ..उसके गिरे हुये मोबाइल के डायल नंबर पर फोन किया तो उसका छोटा भाई ने फोन उठाया वोह पास के ही गाँव दोगच्ची का था सुबह 5 बजे पुलिस के दौड़ का तय्यारी कर रहा था और कोई बोलेरो वाला बुरी तरह धक्का मार भाग गया और वोह 2 घंटा नाली में पड़ा रहा ..पूरे परिवार के लोग घटना अस्थल पर पहुँच गये .और विनोद की जान बची.

इसके बाद कहानी यहीं खत्म नही होती जब वो वापस आ रही थी तब एक बस उनके सामने पलट गयी वहां भी अपना सफ़र रोककर शबाना ने वही किया जो एक इंसानियत का तकाजा होता है. पढ़े क्या कहती है शबाना

फ़िर 2 जून कल दिन के 1 बजे पटना आने के क्रम में पटना -फतुहा हाइ – वे पर मेरे सामने पूरी बस उलट गयी ..तुरंत मैने पहले घायलों को बाहर निकाला ..फ़िर ambulance को फोन किया ..जो लोग ज़्यदा घायल थे उन्हें अपनी गाड़ी पर बैठा कर सीधा pmch हॉस्पिटल पटना भागी ..रास्ते में toll टेक्स पर उतर कर सारी जानकारी देते हुये pmch एमर्जेन्सी पहुँची तब तक ambulance भी घटना स्थल पर पहुँच गई और इसतरह 40 मानव की जान बची …

(कमेंट बॉक्स में हौसला अफजाई करना ना भूले, ऐसे लोग दुनिया में बहुत कम होते है, हमारा हौसला अफजाई करने से उन्हें और अधिक ताकत मिलेगी)

विज्ञापन