Thursday, September 23, 2021

 

 

 

‘अफजल प्रेमियों के साथ सरकार न बनने से भाजपा को खुश होना चाहिए या दुखी?’

- Advertisement -
- Advertisement -

भाजपा महासचिव और जम्मू-कश्मीर राज्य के प्रभारी राम माधव ने आज कहा है कि भाजपा के लिए पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की शर्तें मानना संभव नहीं है. इस बयान के साथ ही जम्मू कश्मीर में भाजपा-पीडीपी की सरकार बनने की संभावनाएं काफी कम हो गई हैं. भाजपा महासचिव ने कल ही पीडीपी नेता महबूबा मुफ़्ती से मुलाक़ात की थी. सोशल मीडिया ने इस घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा कि सरकार बनने या न बनने से बेहतर यह हुआ कि इतने लंबे समय से चला आ रहा नाटक खत्म हो गया. इस मामले पर चुटकी लेते हुए एक प्रतिक्रिया यह भी आई कि राम माधव पहले व्यक्ति हैं जिन्होंने ‘महबूबा’ की शर्तें मानने से इनकार किया है.

'अफजल प्रेमियों के साथ सरकार न बनने से भाजपा को खुश होना चाहिए या दुखी?'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद कॉमेडियन कपिल शर्मा का पुतला भी मैडम तुसाद म्यूजियम में लगने जा रहा है. कल कपिल शर्मा ने पुतले के लिए जरूरी नाप दी है. आज कई लोगों ने ये तस्वीरें आज सोशल मीडिया पर शेयर कीं. यहां एक टिप्पणी आई है कि नरेंद्र मोदी के साथ-साथ कपिल शर्मा की टाइमिंग भी बहुत अच्छी है. सोशल मीडिया पर कपिल के प्रशंसकों को लंबे इंतज़ार के बाद खुश होने का मौका मिला है क्योंकि पिछले कई दिनों से कपिल का लोकप्रिय शो ‘कॉमेडी नाइट्स विद कपिल’ बंद है और इससे जुड़ी कुछ विवादित खबरें भी मीडिया में आती रही हैं.

जवाहरलाल यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में कथित रूप से देश विरोधी नारे लगाने वाले छात्रों उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को आज पटियाला हाउस कोर्ट ने छह महीने की अंतरिम जमानत दे दी है. सोशल मीडिया ने इसपर टिप्पणी करते हुए कहा कि संविधान खुद पर सवाल उठाने वालों को भी बराबर मौके देता है. आज दिनभर यहां ‘उमर एंड अनिर्बान’ ट्रेंड करता रहा.

कल पहले विश्व सूफी सम्मेलन के मंच से बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शांति और सद्भाव के संदेश के लिए इस्लाम की तारीफ़ की थी. प्रधानमंत्री का बयान ‘अल्लाह के 99 नाम हैं और किसी भी नाम का अर्थ हिंसा नहीं है’ आज सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया गया. सोशल मीडिया पर नरेंद्र मोदी के समर्थक और विरोधी दोनों ही प्रधानमंत्री के इस रुख पर अचंभित नजर आए.

वन लाइनर्स | fb/ruri10

अफजल प्रेमियों के साथ सरकार न बनने से भाजपा को खुश होना चाहिए या दुखी?

सी फॉर शायर | @cifarshayar

उमर,अनिर्बान और कन्हैया अब वर्तमान सरकार द्वारा युवाओं पर अत्याचार का चेहरा बन गए हैं. उन्हें (सरकार को) अब भिन्न मत की बात समझना सीखना चाहिए.

सतीश आचार्य | @satishacharya

श्रीकान्त जुगतावत | @SKJugtawat

बधाई हो कपिल शर्मा! मैं तो आपके आस-पास के पुतलों के लिए चिंतित हूं. कहीं ज्यादा हंसने से उनका शेप न बिगड़ जाए.

कटाक्ष | @KtakshIndia

कपूर एंड संस और उमर खालिद में क्या समानता है? दोनों आज रिलीज हुए हैं और दोनों का पाकिस्तान से कनेक्शन है.

मुकेश केजरीवाल | @Mukesh_k

किसी ने कहा, प्रधानमंत्री जी ने इस्लाम की तारीफ में इतनी बातें अंग्रेजी में इसलिए कहीं, ताकि संघ और भाजपा के लोगों को समझ न आ सके.

– अंजलि मिश्रा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles