Sunday, June 20, 2021

 

 

 

‘सैफ की आलोचना करने वाले कैसे भूल जाते हैं कि सोहा की शादी एक कश्मीरी ब्राह्मण से हुई’

- Advertisement -
- Advertisement -

kri

करीना और सैफ़ द्वारा अपने बच्चे का नाम तैमूर रखने के बाद सोशल मीडिया पर इस नाम के समर्थकों और विरोधियों में अनावश्यक जंग छिड़ा हुआ है। तैमूर का मतलब फ़ौलाद होता है और इस लिहाज़ से यह बुरा नाम नहीं है। लेकिन विवाद के पीछे भारत के साथ खौफ़नाक तौर पर जुड़े मध्ययुग के उज्बेकिस्तान के शासक तैमूर लंग का नाम है।

तैमूर ने अपनी विकलांगता के बावजूद वह सब हासिल किया जिसका सपना दुनिया के बड़े-बड़े सम्राटों ने देखा होगा। अपनी महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति के लिए उसने एक सेना खड़ी की और समरकंद का राज्य जीत लिया। अपनी बहादुरी के बल पर उसने एशिया के एक बड़े हिस्से में अपने साम्राज्य का विस्तार भी किया। इस दौरान उसने लाखों मुसलमानों का भी क़त्ल किया। वह एक भारी सेना लेकर समरकंद से भारत के कई नगरों को लूटता हुआ दिल्ली तक पहुंच गया। उसकी मंशा मुगलों की तरह भारत पर शासन करना और यहां की मिट्टी में रच-बस जाना नहीं थी।

पंद्रह दिनों तक उसने दिल्ली, मेरठ, हरिद्वार और आसपास के शहरों को निर्ममता से लूटा, लाखों लोगों का क़त्ल किया और बेपनाह दौलत के साथ बंदी बनाई औरतों और शिल्पियों को साथ लेकर समरकंद लौट गया। वह समय ही ऐसा था। भारत सहित प्राचीन और मध्यकालीन दुनिया के तमाम शासकों और विजेताओं ने इसी तरह हारे हुए राज्यों में कत्लेआम मचाया और वहां की दौलत और स्त्रियां लूटीं। तब बहादुरी की कसौटी शासकों दूसरे राज्यों को कुचलने और उनकी संपति तथा सुन्दर स्त्रियों को लूटने की क्षमता ही हुआ करती थी।

तैमूर के नाम के साथ इस देश की बुरी यादें जुडी हैं। इसके बावजूद करीना और सैफ़ ने अपने नवजात बेटे के लिए यही नाम चुना है तो यह उनका विशेषाधिकार है। इस पर किसी की आपत्ति का कोई मतलब नहीं। इसे लेकर सैफ़ पर धर्मांधता का आरोप लगाने वाले यह भूल जाते हैं कि हाल में उसने अपनी बहन सोहा अली खान की शादी एक कश्मीरी ब्राह्मण कुनाल खेमू के साथ करवाई थी। 

ध्रुव गुप्त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles