ys

अमरावती (आंध्र प्रदेश): मुस्लिम युवकों की गिरफ्तारी की वाईएसआरसीपी के अध्यक्ष वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कड़ी आलोचना करते हुए मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू से माफी की मांग की है।

वाईए जगन ने गुरुवार को ट्वीट में कहा कि हकों के लिए संघर्ष करने वाले नौ मुस्लिम युवकों को गिरफ्तार करना अन्याय है। वाईएस जगन ने सरकार से मांग की है कि गिरफ्तार मुस्लिम युवकों को बिना शर्त रिहा किया जाए। साथ ही कहा कि गिरफ्तार युवकों से माफी मांगे।

वाईएस जगन ने मुख्यमंत्री से ये भी पूछा कि क्या आपने प्रदेश के मुस्लिमान युवकों को गुंटूर की सभा में भाग लेने के लिए नहीं बुलाया है? मुस्लिम युवकों ने आपके दिये आश्वासन की अमलावरी करने मांग करते हुए प्लेकार्ड को प्रदर्शन किया है। इस प्रकार प्रदर्शन करने वालों के प्रति बर्बरता से पेश आना क्या अन्याय नहीं है।

Courtesy: Lokbharat

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होने कहा, युवकों द्वारा मदरसा स्कूल के छात्र के लिए बस पास और स्कूल युनिफार्म पूछना क्या गलत है? वाईएस जगन ने कहा कि आपके मंत्रिमंडल में एक पद भी मुस्मिल को नहीं दिया गया है। इस बारे में पूछना क्या अन्याय है?

वाईएस जगन यह भी सवाल किया कि मुस्लिम युवकों को लगभग 30 घंटे तक प्रताड़ित किया गया। इसके बाद झूठे मामले दर्ज करके जेल भेजना कहां का न्याय है? क्या आंध्र प्रदेश में मानवाधिकार नहीं है? क्या आप में इंसानियत है?

Loading...