Saturday, June 19, 2021

 

 

 

महबूबा मुफ़्ती बोली – युवाओं को नौकरियां नहीं मिलेंगी तो मजबूरन बंदूक ही उठाएंगे

- Advertisement -
- Advertisement -

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर अनुच्छेद 370 को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जब प्रदेश में युवाओं को नौकरियां ही नहीं मिलेंगी तो वे मजबूर होकर बंदूक ही उठाएंगे।उन्होंने कहा कि युवाओं के पास हथियार उठाने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है।

पीडीपी नेता ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी जम्मू-कश्मीर की जमीन को बेचना चाहती है, आज बाहर से आकर लोग यहां नौकरी कर रहे हैं लेकिन हमारे बच्चों को नौकरी नहीं मिल रही हैं। जम्मू-कश्मीर में स्थानीय युवाओं के लिए नौकिरयों व भूमि के अधिकार छीन लिए गए हैं।

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि अनुच्छेद 370 हटाने के बाद कश्मीर से भी ज्यादा हालात भाजपा सरकार ने जम्मू में खराब कर दी हैं। उन्होंने कहा जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लोगों का रोजगार और भूमि पर से हक भी छीन लिया गया है। दूध की नदियां बहाने की बातें करने वाली भाजपा सरकार जम्मू-कश्मीर के संसाधनों को लूटने के अलावा यहां के लोगों की जमीन रोजगार भी छीन रही है।

उन्होंने कहा कि कश्मीर के युवाओं को या तो जेल में डाला जा रहा है, या वे मजबूर होकर बंदूक उठा रहे हैं। सरकार ने ऐसे हालात पैदा कर दिए हैं कि युवाओं के पास बंदूक उठाने या फिर जेल जाने का विकल्प ही बचा है।

बीजेपी नेता अमित मालवीय ने इस बयान पर कहा कि महबूबा मुफ्ती और उनका परिवार लंबे वक्त तक कश्मीर की सत्ता में रहा, अगर युवाओं को नौकरी नहीं मिली है तो वो अपना ही रिपोर्ट कार्ड दे रही हैं। बीजेपी नेता बोले कि महबूबा मुफ्ती अपने राजनीतिक जनाधार को बचाए रखने के लिए इस तरह के बयान दे रही हैं। युवाओं को भङ़काने के लिए वो इस तरह के बयान दे रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles