तल्ख तेवर और बगावती सुर की वजह से सुर्खियों में रहने वाले यूपी के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने उत्तर प्रदेश के विभाजन की मांग करते हुए कहा कि बिना विभाजन के पूर्वांचल का विकास नहीं हो सकता।

राजभर ने कहा कि पूर्वांचल में निरक्षरता, गरीबी और बेरोजगारी चरम पर हैं। यह तभी समाप्त होगा, जब पूर्वांचल एक अलग राज्य होगा। साथ ही उन्होंने कहा कि बलिया, वाराणसी और आजमगढ़ में शराब के खिलाफ अभियान चलाया जाए। मथुरा में शराब पर प्रतिबंध लग चुका है। हम उत्तर प्रदेश में बिहार और गुजरात की तरह पूर्ण प्रतिबंध चाहते हैं।

मंत्री ने कहा मथुरा में शराब पर प्रतिबंध लग चुका है। हम उत्तर प्रदेश में बिहार और गुजरात की तरह पूर्ण प्रतिबंध चाहते हैं। सर्वे ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि लगभग 60% लोग अशिक्षित हैं। शराब भी इसका एक मुख्य कारण है।

उन्होंने कहा चीन ने हमारे उपभोक्ता बाजार को ले लिया है। उनके उत्पादों को पूरे देश में बेचा जाता है। चीन यहां व्यवसाय करता है और हथियार खरीदने और भारत को धमकी देने के लिए उस पैसे का उपयोग करता है। मेरा मानना है कि अगर चीन का बिजनेस लाइसेंस रद्द कर दिया गया है, तो करोड़ों युवाओं को यहां नौकरी मिलेगी।