बसपा सुप्रीमो मायावती ने निकाय चुनाव परिणामों के बाद बीजेपी को चुनौती देते हुए कहा कि यदि बीजेपी ईमानदार है तो 2019 के चुनाव बैलट पेपर से कराये.

इसी के साथ उन्होंने कहा,बीजेपी की जीत में ईवीएम की भूमिका अगर नहीं है तो बसपा की जीती हुई अलीगढ़ और मेरठ सहित सभी 16 मेयर की सीटों पर बैलेट पेपर पर मतदान करा लें. उन्हें अपनी पार्टी की असलियत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कथित विजन का भी पता चल जाएगा. प्रदेश की जनता उन्हें नगर पालिका और नगर पंचायत की तरह ही मेयर के पदों पर भी बुरी तरह से हराएगी.

मायावती ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने निकाय चुनाव में सरकारी मशीनरी का इस्तेमाल किया वरना बसपा के कई और मेयर जीत हासिल करते. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने ईवीएम के माध्यम से चुनाव में धांधली कर लोकसभा और विधानसभा में जीत हासिल की.

बसपा प्रमुख ने आरोप लगाया, मेयर चुनाव में भी यही धांधली की गई. अलीगढ़ और मेरठ में बीएसपी जीती क्योंकि वहां जबर्दस्त जन उबाल था और ज्यादा गड़बड़ी करने पर चोरी साफ तौर पर पकड़े जाने की आशंका थी. मायावती ने सवाल उठाया कि नगर पालिका और नगर पंचायत चुनाव बैलेट पर हुए तो यहां बीजेपी कैसे पिछड़ गई.

उन्होंने आरोप लगाया कि सरकारी मशीनरी का जबर्दस्त दुरुपयोग करके बीएसपी प्रत्याशी को सहारनपुर, आगरा व झांसी में हराया गया है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें