योगी आदित्यनाथ द्वारा उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री का पद सँभालने के बाद सीएम आवास के शुद्धीकरण कराए जाने को लेकर बिहार के पूर्व सीएम और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने इसे जातिगत भेदभाव से जोड़ते हुए इसकी आलोचना की हैं.

लालू ने रविवार को ट्वीटर पर इस बारें में लिखा कि ‘योगी ने सीएम आवास का शुद्धीकरण इसलिए कराया क्योंकि विगत एक दशक से ज्यादा वहां दलित/पिछड़े एवं बहुजन वर्ग के मुख्यमंत्री रहते थे.’

याद रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 5, कालिदास मार्ग स्थित अपने आधिकारिक आवास का गोरखपुर से 11 पंडितों को बुलाकर शुद्धीकरण कराया था. इस दौरान सीएम आवास में हवन-पूजन किया गया था. साथ ही आवास के चारों ओर स्वस्तिक के निशान भी बनाए गए.

योगी के इस फैसले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कह चुके हैं कि 2022 में जब वह (सत्ता में) आएंगे तो फायर ब्रिगेड में भरकर गंगाजल लाएंगे और 5, कालिदास मार्ग को धुलवाएंगे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?