गोरखपुर से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल ने मालेगांव बम धमाकों की आरोपी और भोपाल लोकसभा सीट से पार्टी उम्मीदवार प्रज्ञा ठाकुर के शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिए गए विवादित बयान को राजद्रोह करार दिया है।

अग्रवाल ने शुक्रवार को एक ट्वीट कर कहा कि हेमंत करकरे आतंकवादियों से मुकाबला करते हुए शहीद हो गए और उनकी शहादत का अपमान करना न सिर्फ शर्मनाक बल्कि राजद्रोह भी है। इस बारे में शनिवार को पूछे जाने पर अग्रवाल ने कहा,‘‘ हां मैंने यह ट्वीट किया है और मैं अपने बयान पर कायम हूं। हेमंत करकरे भारत के महान शहीद और बेहतरीन पुलिस अधिकारी थे।”

इस सवाल पर कि प्रज्ञा को भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा ने ही उम्मीदवार बनाया है, सिंह ने कहा कि पार्टी पहले ही प्रज्ञा के बयान से खुद को अलग कर चुकी है। प्रज्ञा का बयान पार्टी का बयान नहीं है। इसी वजह से उन्होंने माफी भी मांगी है।

बता दें कि मध्य प्रदेश की भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई हमले में शहीद पुलिसकर्मी हेमन्त करकरे की शहादत का अपमान किया है। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि हेमंत ने मुझे गलत तरिके से फंसाया था, मैंने कहा था कि तुम्हारा पूरा वंश खत्म हो जाएगा। वो अपने कर्मों की वजह से मरें हैं।

शुक्रवार को मीडिया से बातचीत में साध्वी ने कहा, ‘हेमंत करकरे मुझे यातनाएं देते थे। मुझसे कुछ भी पूछते थे। मैंने कहा कि तेरे सर्वनाश होगा और ठीक सवा महीने बाद आतंकियों ने मार दिया।  जिस दिन मैं गई थी उस दिन सूतक लग गया था।’ हेमंत करकरे महाराष्ट्र एटीएस के प्रमुख थे और साल 2008 में मुंबई पर हुए हमलों के दौरान उनकी मौत हो गई थी। बहादुरी के लिए साल 2009 में उन्हें अशोक चक्र दिया गया था।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें