उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा नमाज को सूर्य नमस्कार के समान बताने पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के चीफ और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने साफ़ तौर पर कहा कि नमाज की तुलना सूर्य नमस्कार से हो नही सकती.

ओवैसी ने योगी के इस बयान को मुसलमानों को बेवकूफ बनाने की कोशिश करार देते हुए कहा कि सूर्य नमस्कार और नमाज की तुलना वाला बयान मुस्लिमों को मूर्ख बनाने के लिए था. ओवैसी ने कहा, ‘मैं एक मुस्लिम हूं. नमाज मेरे जीवन का हिस्सा है. मैं किसी से तुलना करना नहीं चाहता. सीएम को अप्रासंगिक विषयों पर बात करने की जगह महत्वपूर्ण विषयों पर बात करनी चाहिए.’

उन्होंने कहा कि सीएम को उत्तर प्रदेश के लोगों के रोजगार और शिक्षा पर ध्यान देना चाहिए. ओवैसी ने आगे कहा कि योगी अपने बयान से मुसलमानों को बेवकूफ बनाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन यह उनके काम नहीं आएगा. औवेसी ने यह भी आरोप लगाया कि राज्य में बूचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई से रोजगार के नुकसान जैसे मुद्दों का निदान करने के बजाय आदित्यनाथ बयान दे रहे हैं कि इसका किसी पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

लोकसभा सांसद ने कहा, ये सभी संरक्षणवादी बयान हैं जिन्हें मुस्लिम समुदाय पिछले 55 साल से सुन रहा है. औवेसी ने कहा कि मुख्यमंत्री का पहला कर्तव्य इंसाफ करना है.

Loading...