भारतीय जनता पार्टी के साथ केंद्र और महाराष्ट्र की सत्ता में सहयोगी शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को चप्पलों से पीटे जाने की बात कहकर राजनीतिक भाषा की मर्यादा समाप्त कर दी.

दरअसल, शिवाजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते वक्त खड़ाऊं पहनने से नाराज उद्धव ठाकरे ने कहा कि योगी आदित्यनाथ को चप्पलों से पीटना चाहिए. शिवसेना प्रमुख ने इसे शिवाजी का अपमान बताया.

उद्धव ठाकरे ने यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी के युवा नेताओं में हिंदुत्व के आदर्श नहीं नजर आते. उन्होंने आगे कहा कि उनके पिता बाल ठाकरे ने भाजपा के ‘बुरे कर्मों’ को बर्दाश्त किया लेकिन वह ऐसा नहीं करेंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

yogi 650x400 41514689208

ठाकरे ने कहा कि ईश्वर के प्रतिरूप शिवाजी महाराज की प्रतिमा के समक्ष जाने से पहले खड़ाऊं उतारना उनके प्रति सम्मान प्रकट करना है और यह समान्य प्रक्रिया है, लेकिन योगी ने ऐसा नहीं किया. उनसे और क्या अपेक्षा की जा सकती है? यह शिवाजी महाराज का अपमान है.

एक मराठी चैनल से बातचीत में उद्धव ठाकरे ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी की युवा पीढ़ी में हिंदुत्व के आदर्श नहीं झलकते. शिवसेना प्रमुख से यह पूछा गया था कि क्या उन्हें इस बात का अफसोस है कि पिछले 25 साल से भारतीय जनता पार्टी उनकी सहयोगी है.

इस सवाल के जवाब में उद्धव ने कहा कि यह दुभाग्यपूर्ण है.  कुछ चीजों को लेकर अफसोस है, क्योंकि भाजपा की नई पीढ़ी में हिंदुत्व के आदर्श नहीं दिखते. उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के बाद भाजपा अहंकारी हो गई है. 28 तारीख को होने वाला पालघर लोकसभा उप चुनाव अहंकार और वफादारी के बीच होगा.

Loading...