yogii

महाराणा प्रताप की जयंती के अवसर पर गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुगल बादशाह अकबर की तुलना मे महाराणा प्रताप को महान बताया। उन्होंने कहा कि महाराणा प्रताप ने अपने स्वाभिमान के साथ कभी समझौता नहीं किया।

गोमती नगर स्थित आईएमआरटी इंजीनियरिंग कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि अतीत से भटका समाज कभी अपने उज्ज्वल भविष्य का आधार नहीं रख सकता। हमारा अतीत ही हमें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है और महाराणा प्रताप के जीवन और शौर्य से हमें प्रेरणा लेनी चाहिए।

उन्होने कहा, महाराणा प्रताप ने अकबर के सैनिकों को दो टूक कहा था कि विदेशी और विधर्मी को हम अपना बादशाह नहीं स्वीकार कर सकते। उन्होंने कहा कि वनवासी समाज आज भी अपने को राणा प्रताप का वंशज मानते हैं।

योगी ने कहा कि महाराणा प्रताप के सामने अकबर का एक संदेश था कि वे उसे अपना बादशाह स्वीकार कर लें। ये संदेश ले जाने वालों में जयपुर के राजा मान सिंह भी थे, लेकिन तमाम प्रयासों के बावजूद अधर्मी, विदेशी को महाराणा प्रताप ने बादशाह स्वीकार नहीं किया।

सीएम योगी ने कहा कि उस दौरान अकबर के साथ स्वाभिमान, सम्मान गिरवी रखने वाले राजा भी थे, लेकिन महाराणा प्रताप ने स्वाभिमान, सम्मान को अपने छोटे से राज्य के साथ जीवित रखा। यही कारण है 500 साल बाद भी लोग महाराणा प्रताप को याद कर रहे हैं।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?