केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू के बयान पर पलटवार करते हुए सीपीएम महासचिव ने कहा कि महात्मा गांधी की मौत का आरएसएस के लोगों ने जश्न मनाया था.

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने ट्विटर पर लिखा, ‘गांधी की हत्या के बाद किसने जश्न मनाया था. 11 सितंबर 1948 में सरदार पटेल ने गोलवलकर से कहा था कि आरएसएस के लोगों ने गांधी जी की मौत के बाद जश्न मनाया और मिठाई बांटी थी.’

येचुरी ने आगे कहा , ‘मंत्रियों को अपनी संवैधानिक शपथ के अंतर्गत काम करना चाहिए ताकि कानून बना रहे. फिलहाल वह उन लोगों का समर्थन कर रहे हैं जो एक 20 वर्षीय लड़की को डरा धमका रहे हैं.’ उन्होंने आरएसएस पर आरोप लगाया कि वह लोगों पर अपनी विचारधारा थोपना चाहता है, कि वे क्या खाएं, पहनें, देखें और कैसे रहें.’

दरअसल, केंद्रीय मंत्री किरन रिजिजू ने कहा था कि ‘जब जवान शहीद होते हैं तो वामपंथी जश्न मनाते हैं. दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा गुरमेहर कौर के जरिए वामदलों को निशाने पर लेते हुए रिजिजू ने कहा था छात्रों के मामले पर विवाद खड़ा करना सही नहीं है और यह वामपंथियों के लिए है जो कि जवान के शहीद होने पर जश्न मनाते हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें