br

उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा हनुमान को दलित बताने के विवाद अभी खत्म नहीं हुआ था कि बीजेपी की और से एक और विवाद पैदा कर दिया गया है। कैसरगंज से बाहुबली बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने शुक्रवार को दावा किया कि उनकी परमिशन के बिना हनुमानजी कहीं नहीं जा पाते है।

शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान पर उन्होने कहा कि इस समय हनुमान जी की चर्चा चारों तरफ हो रही है. ये हनुमान और राम जी की सेना है, अगर मैं उस समय कुश्ती संघ का अध्यक्ष होता तो बिना मेरी परमिशन के हनुमानजी कहीं नहीं जा पाते। वहीं हनुमान जी भी मेरा हर आदेश मानते।

गोंडा के नंदिनी नगर महाविद्यालय परिसर में आयोजित सीनियर नेशनल कुश्ती चैंपियनशिप और तरण ताल के उद्घाटन कार्यक्रम में पहुंचे बीजेपी सांसद ने कहा, कहा कि बजरंगियों से देश के कुछ लोग घबरा गए हैं। इसीलिए बजरंग बली को लेकर उनकी बात को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

bjp

उन्होने बताया, मुख्यमंत्री ने कहा कि वैदिक काल से कुश्ती भारत का प्राचीनतम खेल रही है। राज घरानों ने इसे आगे बढ़ाया और आज कुश्ती का अवतरण नये रूप में हुआ है। सीएम ने कहा कि खेलों को खेल भावना के साथ खेला जाना चाहिए. धैर्य, संयम और सहनशीलता एक खिलाड़ी के आभूषण होते हैं।

उन्होंने जामवंती, भीमसैनी, हनुमंती और जरासन्धी दांव के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि भारत में कुश्ती को लेकर बदलाव हुआ है.  मुख्यमंत्री ने गोंडा में खेलों के लिए इनडोर स्टेडियम बनाने की घोषणा भी की। इसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन को प्रस्ताव बनाकर भेजने का निर्देश दिया।

Loading...