Sunday, September 19, 2021

 

 

 

क्या एमपी में वंदे मातरम गाने का रिवाज होगा खत्म, कमलनाथ ने कर्मचारियों के गाने पर लगाई रोक?

- Advertisement -
- Advertisement -

मध्य प्रदेश में 15 साल से चले आ रहे बीजेपी राज खत्म होने के बाद कांग्रेस की नई सरकार के राज में अब पिछली सरकार के फैसले के को बदलने का काम भी शुरू कर दिया है। जिसकी शुरुआत
सरकारी कर्मचारियों के ‘वंदे मातरम’ से जुड़े फैसले को लेकर की गई है।

दरअसल, भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने हर महीने के पहले कामकाजी दिन में ‘वंदे मातरम’ गाने की यह व्यवस्था शुरू की थी। हालांकि, कमलनाथ की अगुवाई में कांग्रेस सरकार ने ‘वंदे मातरम’ बंद करने का कोई आदेश जारी नहीं किया था, लेकिन साल 2019 के पहले कामकाजी दिन पर यह राष्ट्रगीत नहीं गाया गया।

बीजेपी नेता और शिवराज सिंह चौहान की सरकार में मंत्री रहे उमा शंकर गुप्ता ने कहा है कि कमलनाथ सरकार ने राज में सरकारी कर्मचारियों के वंद मातरम गाने पर रोक लगा दी है। उन्होंने कांग्रेस पर देश का अपमान करने का आरोप लगाया है।

दूसरी तरफ मध्य प्रदेश सरकार का कहना है कि वंदे मातरम पर पाबंदी लगाने का कोई आदेश नहीं निकाला गया है। उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने कहा वंदेमातरम का गायन होना चाहिए। आज नया वर्ष है मुख्य सचिव ने पदभार ग्रहण किया है, इसलिए हो सकता है नहीं हुआ।

विधि एवं विधाई कार्य मंत्री पी सी शर्मा ने कहा मुझे जानकारी नहीं है पता करता हूं क्यों नहीं हुआ। मंत्रालय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुधीर नायक आज वंदे मातरम नहीं हुआ, हर माह की पहली तारीख को होता है। चीफ सेकेट्री ने कहा, ‘मुझे जानकारी नही है.. दिखवाता हूं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles