Monday, July 26, 2021

 

 

 

CAA विरोध पर आर्मी चीफ का बयान, ओवैसी और दिग्विजय सिंह ने दे डाली नसीहत

- Advertisement -
- Advertisement -

नागरिकता कानून को लेकर हुई हिंसा की आलोचना करते हुए सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि आज हम सब बड़ी संख्या में यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में छात्रों की अगुआई में कई शहरों में भीड़ और लोगों को हिंस’क प्रदर्शन करते देख रहे हैं। यह नेतृत्व क्षमता नहीं है।

उनके इस बयान पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने  आपत्ति जताई है।

असदुद्दीन ओवैसी ने गुरुवार को ट्वीट कर लिखा, ‘अपने कार्यालय की हद जानना भी एक नेतृत्व ही है। नेतृत्व वो है जो नागरिकता को सर्वोच्च स्थान पर रखे और उस संस्था की अखडंता को बरकरार रखें जिसकी आप अगुवाई कर रहे हो।’

उनके अलावा कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भी आर्मी चीफ के बयान पर जवाब दिया और ट्वीट किया कि आपके बयान से मैं सहमत हूं, लेकिन वो भी लीडर नहीं होते हैं जो अपने फॉलोवर्स को सांप्रदायिक हिंसा में शामिल होने के लिए मंजूरी देते हैं।

बता दें कि सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने एक इवेंट के दौरान कहा, ‘नेता वे नहीं हैं जो गलत दिशा में लोगों का नेतृत्व करते हैं। जैसा कि हम लोग गवाह रहे हैं कि बड़ी संख्या में विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के छात्रों ने शहरों और कस्बों में आ’गजनी और हिं’सा करने के लिए जन और भीड़ का नेतृत्व कर रहे हैं। यह नेतृत्व नहीं है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles