महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे 2019 की तैयारी में लगे हुए है। इसके लिए उन्होने हिंदुत्व को ही अपना हथियार बनाया है।

शुक्रवार को पुणे में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मुसलमानों को अज़ान देने के लिए लाउडस्पीकर की जरूरत क्यों है, अगर नमाज़ पढ़नी है तो घर में पढ़ सकते हो। उन्होंने कहा ‘अजान के लिए मुस्लिमों को लाउडस्पीकर की क्या जरूरत? ऐसा करके आप क्या दिखाने की कोशिश करते हैं? अगर आप नमाज अदा करना चाहते हैं तो इसे घर पर करिए। आप इसे सड़क पर क्यों अदा करते हैं?’

गुरु पूर्णिमा के दिन पुणे में अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा कि ‘सभी को अपनी-अपनी जिम्मेदारियों को समझना होगा। अगर सभी यह समझने लगे तो देश और राज्यों में किसी तरह का विरोधाभास नहीं पैदा नहीं होगा।

राज ठाकरे ने महाराष्ट्र में मराठा आरक्षण की मांग पर अड़े मराठा आंदोलन का भी समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि आंदोलन के दौरान हिंसा राज्य सरकार की नाकामी का प्रतीक है। अगर भाजपा सरकार राज्य की सुरक्षा नहीं कर सकती तो उन्हें सत्ता संभालने का कोई हक नहीं।’

ठाकरे ने पत्रकारों से कहा, ‘मुख्यमंत्री झूठ बोल रहे हैं। वे यह कहकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं कि बंबई हाई कोर्ट के मराठा आरक्षण को मंजूरी देने पर सरकार बैकलॉग में पड़े मराठा उम्मीदवारों को 72,000 पदों में से 16 प्रतिशत पद बांट देगी। वह आम लोगों को गुमराह कर रहे हैं।’