Sunday, August 1, 2021

 

 

 

प्रवासी मजदूरों के लिए नहीं चलेगी स्पेशल ट्रेन, बस से करेंगे घर भेजने की व्यवस्था: उद्धव ठाकरे

- Advertisement -
- Advertisement -

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य में फंसे मजदूरों को वापस भेजने के लिए राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रही है.

रविवार को हुई प्रेस कांफ्रेंस में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने ट्रेनों के चलने को लेकर कहा कि ट्रेनें तो नहीं खुलेंगी, लेकिन मजदूरों को उनके घर भेजने के लिए सरकार लगातार कोशिश कर रही है और इस बाबत दूसरे राज्यों से बात की जा रही है. अगर ट्रेनें चलेंगी तो कोरोना संक्रमण और बढ जाएगा.

उद्धव ठाकरे ने कहा, ”मैं परप्रांतीय मजदूरों से कहना चाहता हूं कि आपके लिए लगातार चर्चा जारी है. लेकिन अब ट्रेन शुरू नहीं होगी क्योंकि इससे खतरा बढ़ सकता है. जो हो सकता है वो बात कर रहे हैं. कोटा में हमारे कुछ छात्र हैं, उनके लिए लगातार बात चल रही है. रास्ता निकालने की कोशिश की जा रही है. हमारे यहां बिहार और यूपी के लोग अटके तो नहीं हैं लेकिन वे अपने गांव जाना चाहते हैं, उन्हें हम भेजने की इंतज़ाम करेंगे. ट्रेन तो नहीं चलेंगी लेकिन राज्य सरकारों से बातचीत चल रही है. हम उन्हें बस से भेजेंगे. कल प्रधानमंत्री से दोबारा बात होगी.”

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जो लोग छुप रहे हैं और टेस्ट नहीं करा रहे हैं, अगर आपको लक्षण है तो जरूर टेस्ट कराएं. उन्होंने कहा, ”अगर लक्षण नजर आता है तो तुरंत डॉक्टर को जाकर बताएं. कोरोना के लिए दवाई नहीं है फिर भी अगर सही से हमने हमारा ख्याल रखा तो इससे बचा जा सकता है. अपने आसपास जो सरकारी अस्पताल हैं वहां जाकर आप इसे बता सकते हैं.”

सीएम ठाकरे ने बताया कि 80 फीसदी मरीज एसिप्टोमेटिक हैं और 20 फीसदी ऐसे मरीज हैं जिन्हें जिनके हल्के, गंभीर या बेहद गंभीर लक्षण हैं. इसके अलावा उन्होंने दो पुलिस वालों की मौत पर दुख व्यक्त किया. उन्होंने कहा, ”मैं उन्हें श्रद्धांजलि देता हूं. सरकार की नीति के अनुसार उनके परिवारों का समर्थन किया जाएगा.”

अक्षय तृतीया त्योहार को लेकर उन्होंने कहा कि आज कोई उत्सव नहीं हो रहा है इसके लिए वे आभारी हैं. वहीं रमजान को लेकर उन्होंने लोगों से अपील की कि इबादत करने के लिए वे बाहर न जाएं. मुख्यमंत्री ने कहा, ”हर कोई पूछ रहा है कि भगवान कहां हैं, भगवान उन सभी में है जो इन मुश्किल समय में हमारी सेवा कर रहे हैं पुलिस, डॉक्टर, सफाई कर्मचारी और दूसरे लोग.”

मुख्यमंत्री ने ये भी कहा कि दूसरे राज्यों से वे तुलना नहीं करना चाहता हैं. महाराष्ट्र में दो घंटे पहले तक 1 लाख 8 हज़ार 972 लोगों की जांच की गई है. एक लाख एक हजार 962 लोग नेगेटिव हुए हैं और 323 लोगों की मौत हुई है. पिछले कुछ दिनों में कोरोना के मामले कभी बढ़ रहे हैं, कभी कम हो रहे हैं. लेकिन कुछ जगहों पर मामले बढ़ रहे हैं, जिसमें अधिकांश लोगों में कोई लक्षण नहीं है. वर्ली में जिस तरह से काम किया है उसकी तारीफ केंद्र से आई टीम ने भी की है. वर्ली और गोरेगांव में भी बड़े पैमाने में तैयारी की है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles