mulayam-singh-yadav-759

लखनऊ | समाजवादी पार्टी के राष्ट्रिय महासचिव रामगोपाल यादव द्वारा बुलाये गए पार्टी के विशेष आपातकालीन सम्मलेन में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पार्टी का राष्ट्रिय अध्यक्ष बनाने सम्बन्धी प्रस्ताव पास कर दिया गया. इसके अलावा दो और प्रस्ताव पास किये गए. अखिलेश के राष्ट्रिय अध्यक्ष बनने पर मुलायम सिंह ने चुप्पी तोड़ी है. मुलायम ने इस फैसले पर हैरानी जताते हुए कहा की यह पार्टी मेरी है.

समाजवादी पार्टी के मुखिया या कहे पूर्व मुखिया मुलायम सिंह यादव ने रामगोपाल यादव के अखिलेश को राष्ट्रिय अध्यक्ष बनाने पर कहा,’ मैंने इस पार्टी को बनाया है. इस पार्टी को यहाँ तक पहुँचाने में मैंने जी तोड़ मेहनत की है. समाजवादी पार्टी मेरी है. मुझे हैरानी है की रामगोपाल यादव ने अधिवेशन में इतने बड़े फैसले लिए. पार्टी के संविधान के हिसाब से यह अधिवेशन और इसमें लिए गए फैसले असंवैधानिक है’.

हालाँकि इस बात का अंदेशा मुलायम सिंह को भी था की इस आपातकालीन अधिवेशन में कुछ बड़े फैसले लिए जा सकते है. यह पहले से तय था की अधिवेशन में अखिलेश को पार्टी की कमान सौपी जायेगी और मुलायम सिंह को पार्टी का संरक्षक नियुक्त किया जाएगा. मालूम हो की आज समाजवादी पार्टी के अधिवेशन में रामगोपाल यादव ने तीन प्रस्ताव सामने रखे.

पहले प्रस्ताव में अखिलेश को पार्टी का राष्ट्रिय अध्यक्ष बनाने, दुसरे प्रस्ताव में मुलायम सिंह यादव को पार्टी का मार्गदर्शक बनाने और तीसरे प्रस्ताव में शिवपाल को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाने और अमर सिंह को पार्टी से बर्खास्त करने का प्रस्ताव रखा गया. तीनो ही प्रस्ताव सर्वसम्मति से कार्यकर्ताओ से हाथ उठवाकर पास कर दिए गए. अखिलेश के राष्ट्रिय अध्यक्ष नियुक्त होने पर अब यह क़ानूनी पेंच फंस गया है की समाजवादी पार्टी का असली राष्ट्रिय अध्यक्ष कौन होगा?


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें