Thursday, October 28, 2021

 

 

 

स्विस बैंकों में बढ़ा भारतीयों का धन, राहुल का तंज़ – ‘काला नहीं सफेद धन कहिए जनाब’

- Advertisement -
- Advertisement -

स्विट्जरलैंड के ज्यूरिख स्थित स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक साल 2017 में स्विस बैंकों में जमा भारतीयों का पैसा 50 फीसदी बढ़कर 7000 करोड़ हो गया है।

ऐसे मे अब लोकसभा चुनाव मे प्रचार के दौरान स्विस बेंकों में जमा कालेधन को वापस लाने का वादा करने वाली मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार जब से आई है सिर्फ कह रही है कि कालाधन लाएंगे, जबकि अब जब 2018 में वहां जमापूंजी बढ़ी है तो वो कह रहे हैं कि ये सब व्हाइट मनी है।

उन्होने ट्वीट कर कहा, ”2014 में वह (सरकार) कहते थे- स्विस बैंक से ‘काला’ पैसा मैं लाऊंगा और सभी भारतीयों के खातों में 15-15 लाख रुपये जमा कराऊंगा। 2016 में भाषा बदल गई। उन्होंने (मोदी सरकार) कहा- नोटबंदी ‘काला’धन को देश से खत्म कर देगा। 2018 में उन्होंने (सरकार) कहा- स्विस बैंकों में भारतीयों के ‘व्हाइट’ पैसों में 50 फीसदी का इजाफा हुआ है। स्विस बैंक में ‘कालाधन’ नहीं है!”

इससे पहले कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इस मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए कहा, ‘स्विस बैंकों में काला धन 50 फीसदी बढ़कर 7000 करोड़ रुपए हुआ. वादा था विदेशी बैंकों से 100 दिनों में 80 लाख करोड़ रुपए वापस लाने का. जुमले बने “अच्छे दिन, कहां गये वो सच्चे दिन?’

इस मामले में शुक्रवार को केंद्रीय वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने मोदी सरकार का पक्ष सामने रखा है। पीयूष गोयल ने कहा कि स्विट्जरलैंड में भारतीयों द्वारा जमा किये गये कालेधन के सभी आंकड़े अगले वर्ष तक मिल जायेंगे। गोयल ने संवाददाताओं से कहा कि सरकार के पास सभी जानकारियां हैं और यदि कोई भी व्यक्ति दोषी पाया जायेगा तो उसके विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles