वसीम रिजवी

रामलला दर्शन के लिए सोमवार को अयोध्या पहुंचे शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड व असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ विवादित टिप्पणी की है।

रिजवी ने कहा कि रामलला दर्शन मार्ग पर रामभक्तों की दशा देखकर दुख होता है। बाबर के पैरोकार राम भक्तों पर ज्यादती कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राम मंदिर का विरोध करने वाले ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड व असदुद्दीन ओवैसी जैसे लोग रावण के समान हैं जो कि राम मंदिर का निर्माण नहीं होने दे रहे हैं।

उन्होने कहा,’ पूरी दुनिया में रहने वाले जितने भी हिंदू धर्म के अनुयायी हैं उनमें इंसानियत बाकी है लेकिन कुछ कट्टरपंथी लोग और समूह जैसे ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड या असदुद्दीन ओवैसी जिन्हें बिना मूछों के रावण भी कह सकते हैं, भगवान राम से दुश्मनी करने पर आमादा है. वह जानबूझकर प्रभु राम के मंदिर निर्माण में रोड़ा बने हुए हैं।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

रिजवी ने यह भी कहा, ‘राम मंदिर निर्माण मेरा मिशन है। भगवान राम मेरे सपने में आए मेरे लिए बड़ी बात है। वह पोशाक और धनुष धारी के रूप में नजर आ रहे थे।’ ध्याना रहे रिजवी ने इससे पहले भी बयान दिया था कि उन्होंने भगवान राम को सपने में रोते हुए देखा था। भगवान राम उनके ख्वाब में आए थे।

बता दें कि  सुप्रीम कोर्ट 29 अक्टूबर से मामले पर नियमित सुनवाई करेगा। उम्मीद की जा रही है कि फैसला लोकसभा चुनाव 2019 से पहले तक आ जाएगा।

Loading...