कांग्रेस नेता और पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम ने पूर्व आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन के पद छोड़ने को लेकर कहा कि नोटबंदी की वजह से मजबूर होकर उन्होंने गवर्नर का पद छोड़ा था.

चिदबंरम ने कहा, ‘सरकार ने राजन के लिए गवर्नर बने रहना बेहद मुश्किल कर दिया था और इसी कारण ऐसा लगता है कि उन्होंने गवर्नर पद छोड़ने का फैसला लिया. सरकार नोटबंदी करना चाहती थी और रघुराम राजन इसका विरोध कर रहे थे’

अपनी किताब ‘फीयरलेस इन ऑपोजिशन, पावर ऐंड अकाउंटबिलिटी’ के लॉन्च के अवसर पर चिदंबरम ने कहा, ‘रिजर्व बैंक के किसी व्यक्ति ने केंद्र सरकार को नोटबंदी के विरोध में एक पांच पेज का पत्र ठीक उसी दिन भेजा था जिस दिन रघुराम राजन ने केंद्रीय बैंक के गवर्नर का पद छोड़ा था.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

चिदंबरम ने कहा, ‘उन्होंने (सरकार) राजन का काम करना इतना मुश्किल बना दिया था, पीछे मुड़कर देखें तो यह प्रतीत होता है कि, यह उन कारणों में से एक है, जिसके कारण वे छोड़ कर चले गए. वे नोटबंदी करना चाहते थे, जबकि राजन इसके विरोध में थे.’

चिदंबरम ने केंद्र सरकार से कहा, ‘अगर सरकार पारदर्शी है तो उस पत्र को सार्वजनिक करे. यह पत्र सरकार को RBI की तरफ से लिखा गया था. इसमें नोटबंदी किए जाने का विरोध किया गया था.

Loading...