महेश शर्मा और वीके सिंह के खिलाफ हुए वोटर्स, करना पड़ रहा भारी विरोध का सामना

11:23 am Published by:-Hindi News

केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा और वीके सिंह से उनके संसदीय क्षेत्र के मतदाता बेहद ही खफा है। बता दें कि महेश शर्मा गौतम बुद्ध नगर और वीके सिंह गाजियाबाद से सांसद हैं। वोटर्स ने बीजेपी से दोनों को बदलने की मांग की है।

महेश शर्मा के संसदीय क्षेत्र के ग्रेटर नोएडा इलाके में कई युवा “मोदी तुझसे वैर नहीं, महेश शर्मा तेरी खैर नहीं” जैसे नारों से उनका विरोध कर रहे हैं। कई लोग सोशल मीडिया पर भी महेश शर्मा के खिलाफ कैंपेन चला रहे हैं। इन वोटर्स का कहना है कि शर्मा ने पांच साल में उनके इलाके में न तो कुछ खास काम किया और न ही वक़्त दिया। ये लोग भाजपा को साफ संदेश दे रहे हैं कि अगर प्रत्याशी नहीं बदला गया तो वोट के जरिए वे खुद बदल देंगे।

इसी बीच गाजियाबाद के चार विधायकों और मेयर ने पार्टी हाईकमान से वीके सिंह को ना कह दिया। भाजपाइयों की मांग है कि स्थानीय प्रत्याशी उतारा जाए। बता दें कि वीके सिंह राजपूत समुदाय से आते हैं और गाजियाबाद में राजपूत मतदाताओं का काफी दबदबा है। हालांकि स्थानीय कार्यकर्ता इस बात से नाराज हैं कि वीके सिंह ने संसदीय क्षेत्र में ज्यादा वक्त नहीं बिताया और यही वजह है कि लोगों में उनके प्रति नाराजगी है।

वहीं नोएडा की बात करें तो सांसद और केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा का नोएडा से टिकट की जगह कयास लगाए जा रहे थे कि इस बार वो चुनाव अलवर से लड़ सकते हैं। लेकिन सूत्रों के हवाले से खबर है कि आज शाम जारी होने वाली लिस्ट में एक बार फिर महेश शर्मा को नोएडा से ही टिकट दिया जा सकता है। आपको बता दें कि हाल ही में नोएडा में भी महेश शर्मा के खिलाफ लोगों ने प्रदर्शन किया था। जिसके बाद माना जा रहा था कि नोएडा में बीजेपी किसी और को टिकट दे सकती है।

बता दें कि गौतमबुद्धनगर संसदीय क्षेत्र में ग्रामीण इलाकों में गुर्जर मतदाताओं का दबदबा है। शहरी इलाकों में महेश शर्मा का जनाधार माना जाता है। ऐसे में पार्टी नेतृत्व की चिंता बढ़ना स्वभाविक है।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें