कांग्रेस के बड़े नेता का बयान – अयोध्या में बाबरी मस्जिद की जगह बने राम मंदिर

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर कांग्रेस के बड़े नेताओं एक के बाद एक बयान सामने आ रहे है। हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह ने मंगलवार को कहा कि वह अयोध्या में बाबरी मस्जिद वाली जगह पर ही राम मंदिर निर्माण होना चाहिए हैं।

न्यूज एजेंसी पीटीआई को दिए गए एक इंटरव्यू में वीरभद्र सिंह ने कहा कि भारत में इस्लाम बाद में आया और अयोध्या में मंदिर को तोड़ने के बाद मस्जिद बनाई गई थी। वीरभद्र सिंह ने कहा, ‘अयोध्या भगवान राम की राजधानी थी। अगर आपने (बाबरी मस्जिद ढहाने का) यह कदम उठाया है तो फिर मंदिर बना दो।’

पूर्व मुख्यमंत्री ने बीजेपी पर यह भी आरोप लगाया कि उसके पास राम मंदिर निर्माण को लेकर साहस की कमी है। वीरभद्र सिंह ने कहा, ‘यदि उनमें (बीजेपी) साहस होता तो वे मंदिर बना चुके होते। वहां राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया जाना चाहिए।’

इससे पहले उत्तराखंड के पूर्व सीएम मंत्री हरीश रावत ने राम मंदिर को लेकर एक बार फिर से बड़ा बयान देते हुए कहा कि पार्टी अगर सत्ता में आती है तो वह अयोध्या में राम मंदिर बनाने का भरसक प्रयास करेगी।

देहरादून में एक संवाददाता सम्मेलन में रावत ने कहा, ‘अयोध्या के बारे में मेरा वक्तव्य पहले भी आ चुका है कि अगर हमारी पार्टी सत्ता में आती है तो हम राममंदिर बनाने का भरसक प्रयास करेंगे। मेरे इस दृष्टिकोण को पार्टी का भी माना जाना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि केवल कांग्रेस पार्टी ने ही पूर्व में सत्ता में रहने के दौरान दो बार राम मंदिर बनाने के गंभीर प्रयास किये हैं और यह बात वरिष्ठ भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने भी उनके सामने स्वीकार की थी ।

विज्ञापन