आगामी 2019 लोकसभा चुनाव को लेकर मंथन के लिए शनिवार को आयोजित भाजपा की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक में सुल्‍तानपुर से सांसद वरुण गांधी, पटना साहिब से सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा और पूर्व मुख्‍यमंत्री व कर्नाटक बीजेपी के अध्‍यक्ष बीएस येदियुरप्‍पा इस कार्यकारिणी में शामिल नहीं हुए।

रिपोर्ट्स के मुताबिक यशवंत सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा ये दोनों नेता शनिवार को आम आदमी पार्टी की नोएडा में आयोजित रैली में शामिल हुए और केंद्र सरकार के खिलाफ बयानबाजी करते रहे। वहीं येदियुरप्पा ने परिवार में कार्यक्रम होने की वजह से शामिल होने पर असमर्थता पहले ही जता दी थी। लेकिन वरुण की गैरमौजूदगी कई सवालों को जन्म दे रही है।

इस दो दिवसीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, नितिन गडकरी जैसे दिग्गज नेताओं समेत देशभर के बीजेपी के नेता शामिल हुए हैं। बता दें कि इससे पहले भी वरुण गांधी पिछले महीने ही मेरठ में दो दिनों तक बीजेपी कार्यकारिणी की बैठक में भी नहीं पहुंचे थे। ये मीटिंग राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में हुई थी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

bjp

कहा जा रहा है कि बीजेपी हाईकमान द्वारा वरुण गांधी को लगातार साइडलाइन किए जाने के चलते वे राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक में नहीं पहुंचे। बीच-बीच में ये भी खबरें आती रही हैं कि वरुण गांधी भाजपा का दामन छोड़ कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

यूपी चुनाव के बाद भी इस तरह की खबरें सामने आई थीं कि वरुण गांधी 2019 लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस जॉइन कर राहुल गांधी के साथ एक मंच पर नजर आ सकते हैं। कहा तो ये भी जा रहा था कि वरुण गांधी को कांग्रेस में उपाध्यक्ष बनाया जा सकता है।

Loading...