नई दिल्ली | म्यांमार में रोहिंग्या मुस्लिमो के नरसंहार के बीच काफी शरणार्थी भारत और बांग्लादेश में शरण ले रहे है. लेकिन मोदी सरकार इन शर्णार्थियो को भारत में शरण देने के पक्ष में नही है. सरकार ने रोहिंग्या मुस्लिमो को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए सभी शर्णार्थियो को वापिस म्यांमार भेजने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है. बीजेपी के लगभग सभी बड़े नेताओं की भी यही राय है. लेकिन बीजेपी सांसद वरुण गाँधी सरकार के फैसले से इत्तेफाक नही रखते.

उन्होंने मंगलवार को एक लेख के जरिये रोहिंग्या मुस्लिमो के पक्ष में आवाज उठायी. उन्होंने लिखा की हमें भारत की परमपराओ और अन्तराष्ट्रीय संधियों का ध्यान रखते हुए सभी रोहिंग्या शर्णार्थियो को शरण देनी चाहिए. वरुण गाँधी की यही बात कुछ बीजेपी नेताओं को पसंद नही आई. केन्द्रीय मंत्री हंसराज अहीर ने वरुण के बयान की निंदा करते हुए कहा की जो लोग राष्ट्रहित को ध्यान में रखते हों, उन्हें इस तरह के बयान नहीं देने चाहिए.

वरुण की खुद की पार्टी में उनके खिलाफ विरोध की आवाजे उठ रही है लेकिन विपक्षी दल कांग्रेस उनके बारे जुदा राय रखता है. कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने रोहिंग्या मुस्लिमो पर उनके बयान का समर्थन करते हुए उन्हें बीजेपी में मिसफिट बताया है. बुधवार को ट्वीट कर दिग्विजय सिंह ने लिखा की वो नेहरु-गाँधी खानदान के वंशज है और वही विचारधारा रखते है. हालाँकि दिग्विजय के ट्वीट पर वरुण की कोई प्रतिक्रिया नही आई है.

लेकिन अपने बयान पर अडिग वरुण ने एनडीटीवी से बात करते हुए कहा की मैं चाहता हूँ की हरेक शरणार्थी की पूरी जांच होनी चाहिए क्योकि राष्ट्रिय सुरक्षा के साथ कोई समझौता नही किया जा सकता. बताते चले की वरुण गाँधी सुल्तानपुर से बीजेपी सांसद है. वो पहले भी मोदी सरकार के कई फैसलो के खिलाफ अपने बयान दे चुके है. जिनकी वजह से कई बीजेपी नेता उनकी आलोचना कर चुके है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?