नई दिल्ली:- सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम में इस समय जश्न का माहौल है जहाँ पिछले इलेक्शन में मायूस रहे कार्यकर्ताओं में नया जोश जगा है, वहीँ ओवैसी की पार्टी ने बता दिया है की अब उन्हें हलके में लेने की ज़रूरत नही है. बीएमसी यानि बृहन्मुंबई महानगर पालिका के साथ महाराष्ट्र के 10 नगर पालिकाओं में चुनाव को लेकर नतीजे चौंकाने वाले आ रहे हैं। सोलापुर से असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने पांच सीटें जीत ली हैं। वहीं बीएमसी की भी दो सीटों पर जीत हासिल की है।

सोलापुर में बीजेपी को सबसे ज्यादा सीटें मिलती दिखई दे रही हैं यहां शिवसेना दूसरे नंबर पर रह सकती है। कांग्रेस और एनसीपी के लिए यहां के नतीजे निराशाजनक दिख रहे हैं। यहां से बीजेपी, शिवसेना, कांग्रेस, एनसीपी, मनसे और एआईएमआईएम के नेता अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।
बीएमसी चुनाव में एआईएमआईएम ने 59 उम्मीदवार खड़े किए हैं और संभावना जताई है कि उसे छह से आठ सीटें मिलेंगी।

साल 2014 के विधानसभा चुनाव के दौरान एआईएमआईएम दो सीट जीतने में कामयाब रही थी। पार्टी ने इसमें एक सीट औकरंगाबाद जबकि दूसरी मुंबई के बैकूला में जीती थी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीं, 2012 में नानदेड म्यूनिस्पल कॉरपोरेशन के चुनाव में एआईएमआईएम 11 सीट जीतने में कामयाब रही थी। इसके अलावा 2015 के औरंगाबाद निकाय चुनाव में 113 सदस्यों वाली निगम परिषद की 26 सीटें जीतकर दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी। तब पार्टी ने 54 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे जिसमें से आधे से ज्यादा सीटों पर जीत हासिल की।

Loading...