श्रीनगर: नेशनल कांफ्रेंस के कार्यवाहक अध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने जेएनयू छात्र नेता उमर खालिद पर हमले को लेकर देश में बनाए जा रहे है घृणास्पद वातावरण को बताया है।

उन्होने ट्वीट कर कहा, ‘‘व्यक्तियों के खिलाफ प्रेरित घृणा अभियान चलाइए और कभी न कभी व्यक्ति कानून को अपने हाथ में लेने की हिम्मत जुटा लेगा। उमर खालिद पर हमला सोशल और मुख्यधारा मीडिया के जरिये निरंतर घृणा अभियान का सीधा नतीजा है। खुश हूं कि वह ठीक है।’’

बता दें कि उमर खालिद पर देशद्रोही नारें लगाने का आरोप है। उन पर सोमवार को दिल्ली में कॉन्सिटीट्यूशन क्लब के बाहर हमला हुआ। एक अज्ञात व्यक्ति ने उन पर पिस्तौल से हमला करने की कोशिश की। उन पर गोली भी चलाई गई। हालांकि खालिद बाल बाल बच गए। उन्हें किसी भी तरह का नुकसान नहीं हुआ।

उमर खालिद की शिकायत पर पार्लियामेंट स्ट्रीट थान में आर्म्स एक्ट और हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया है। जांच के दौरान पुलिस ने घटनास्थल के नजदीकी सीसीटीवी खंगाले हैं। इनमें से एक फुटेज में दोपहर करीब 2.30 बजे एक शख्स बिट्ठल भाई पटेल मार्ग की तरफ भागता नजर आ रहा है।

उमर खालिद ने इस मामले में ट्वीट कर कहा कि उन्हें डराकर चुप नहीं कराया जा सकता। उमर ने गौरी लंकेश के साथ अपनी तस्वीर शेयर करते हुए ये भी लिखा कि उन्होंने ये गौरी लंकेश से सीखा है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें