uma

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के रथ पर बीते दिनों पथराव के मामले में सीधी कलेक्टर दिलीप कुमार की रिपोर्ट में कांग्रेस नेताओं को क्लीन चीट मिली है। दरअसल शासन को भेजी गई रिपोर्ट में कांग्रेस नेताओं का नाम नहीं है।

रिपोर्ट सामने आने के बाद कांग्रेस नेता उमर कामसी ने सवाल उठाते हुए कहा कि प्रशासन और पुलिस की जांच के बाद पूरा दूध का दूध और पानी का पानी हो गया है। उन्होने कहा कि ऐसे कृत्य न तो कांग्रेस कि संस्कृति है और नहीं कांग्रेस के इतिहास में कभी ऐसे मामले सामने आए है।

उन्होने इस पूरे मामले में के बड़ी साजिश की शंका जाहिर करते हुए कहा कि जांच में साबित हो चुका है कि कांग्रेस का इस घटना से कोई लेना-देना नहीं है तो आखिर इस पथराव को किसने अंजाम दिया? उन्होने कहा कि ऐसा तो नहीं बीजेपी के लोगों ने सहानुभूति हासिल करने के लिए इस घटना को अंजाम दिया हो।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कासमी ने बताया कि रिपोर्ट में कहीं भी नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह का नाम नहीं है। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री ने तो आरोप लगाया था कि कांग्रेस मेरी खून की प्यासी है और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने आरोप लगाया था कि हमला अजय सिंह ने कराया है। ऐसे में बीजेपी को अब माफी मांगनी चाहिए।

उन्होने कहा कि बीजेपी अपनी हार को देखकर झल्ला उठी है और ऐसे में कांग्रेस पर अनर्गल आरोप लगा रही है। लेकिन जनता सच से वाकिफ है और आने वाले चुनावों में वोटिंग के जरिए मुंहतोड़ जवाब देगी।

Loading...