व्यापम घोटाला मामले में केंद्रीय मंत्री उमा भारती को क्लीन चिट मिली है. संविदा शिक्षा परीक्षा वर्ग-3 में गड़बड़ी के मामले में सीबीआई की और से दायर याचिका में केंद्रीय मंत्री उमा भारती का नाम नहीं है. इस मामले में एजेंसी ने 83 उम्मीदवारों समेत 95 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है.

इस बारें में मध्य प्रदेश के गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि ‘निश्चित तौर पर सीबीआई ने जो रिपोर्ट दी है, चार्जशीट में नाम नहीं आता है. इस बात को उमा जी भी पहले से कह रही थीं, हम भी कह रहे थे… ये कांग्रेस आरोप लगा रही थी, जिन पर आरोप थे, उन पर सरकार कार्रवाई कर चुकी थी. सीबीआई ने भी लगभग उसी को माना है.’

उमा भारती को क्लीन चिट मिलने पर कांग्रेस ने सवाल खड़े किये है. नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने भी सवाल उठाते हुए कहा ‘बिना पूछताछ किये क्लीन चिट मिलती है तो सवाल उठता है. शुरू से ही मामले में लीपा-पोती हो रही है, फर्जीवाड़ा व्यापम में मेडिकल सीट से ज्यादा नौकरियों में था. उसकी सही से जांच नहीं हो रही है.

उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री को क्लीन चिट मिल गई, उमा भारती को मिल गई. अब बस छोटे लोगों पर कार्रवाई हो जाएगी.’ कांग्रेस का आरोप है कि संविदा शिक्षा परीक्षा वर्ग-3 में दो उम्मीदवारों की सिफारिश में उमा का नाम भी एक्सेल शीट में है.

गौरतलब है कि सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर जुलाई 2015 में मामला दर्ज किया था. सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में नितिन महेन्द्र, पंकज त्रिवेदी, ओपी शुक्ला और लक्ष्मीकांत शर्मा को भी आरोपी बनाया है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें