केंद्र और महराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी की अहम सहयोगी शिवसेना ने 11 हजार 400 करोड़ रुपए के कथित पीएनबी घोटाले को लेकर सवाल खड़े करते हुए कहा कि पीएनबी घोटाले की वजह से राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद से जुड़ा कथित घोटाला ठंडे बस्‍ते में चला गया.

शिवसेना की विधान पार्षद नीलम गोरहे की पुस्तक का विमोचन कार्यक्रम में ठाकरे ने कहा, ‘कैसे हजारों करोड़ रुपए के कर्ज दिए गए. एक के बाद एक घोटाले सामने आ रहे हैं. इस मुद्दे की वजह से राफेल घोटाले को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है.’

उद्धव ने कहा, ‘कैसे पिछले दो तीन वर्षों में कुछ लोगों के लिए हजारों करोड़ रुपए बेईमानी से निकालना संभव था जबकि नोटबंदी के दौरान आम लोग जब बैंकों से अपना धन निकालना चाहते थे तो उनसे कई सवाल पूछे जाते थे.’ उन्होंने कहा, ‘बड़े लोग भ्रष्टाचार करते हैं और देश छोड़कर चले जाते हैं. हालांकि, गरीब किसान जिन्होंने छोटा कर्ज लिया है, लेकिन वे उसे चुका पाने में सक्षम नहीं हैं, उन्हें अपनी जान देने पर मजबूर होना पड़ता है.’

उन्होंने कहा, ‘इन दिनों बैंकों के प्रति अविश्वास का माहौल है. लोग अपनी गाढ़ी मेहनत की कमाई बैंकों में रखते हैं. अब हम सरकार से कहना चाहते हैं कि अगर कोई बैंक ठप्प पड़ जाता है तो केंद्र और राज्य सरकार को इसकी जिम्मेदारी लेनी होगी.’

शिव सेना प्रमुख ने कहा, ‘‘अगर सरकार हमारी गर्दन मरोड़कर कर वसूल कर सकती है तो हमारे धन की रक्षा क्यों नहीं कर सकती है.’’

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें