Sunday, October 24, 2021

 

 

 

राजस्थान में गहलोत सरकार को गिराने की साजिश के बीच दो भाजपा नेता गिरफ्तार

- Advertisement -
- Advertisement -

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि भाजपा नेता राज्य में उनकी निर्वाचित सरकार को गिराने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन सरकार स्थिर है, स्थिर रहेगी और पांच साल चलेगी। गहलोत ने यह भी कहा कि भाजपा के स्थानीय नेता अपने केंद्रीय नेतृत्व के इशारे पर राजस्थान में सरकार को अस्थिर करने का षडयंत्र रच रहे हैं।

इसी बीच राजस्थान पुलिस ने दो बीजेपी नेताओं को देर रात हिरासत में लिया था। पूछताछ के बाद राजस्थान स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया है। रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में विधायकों की खरीद फरोख्त मामले में अजमेर जिले के ब्यावर से भाजपा नेता व व्यवसायी भरत मालानी और उदयपुर से राजपूत नेता अशोक सिंह को एसओजी ने ​गिरफ्तार किया है।

बता दें कि 10 जुलाई 2020 को राजस्थान एसओजी ने विधायक खरीद फरोख्त के मामले में एफआईआर दर्ज की है, जिसमें उल्लेख है कि कांग्रेस विधायक व समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायकों को करोड़ों रुपए का प्रलोभन देकर खरीदने की कोशिश की जा रही है।

वहीं सीएम गहलोत का कहना है कि मानवता और इंसानियत की सारी हदें तोड़ दी हैं। एक तरफ तो हम जीवन और आजीविका बचाने में लगे हैं तो दूसरी ओर ये लोग सरकार गिराने में लगे हैं।’’ अशोक गहलोत ने कहा कि,‘‘हम लोग जहां महामारी से लड़ाई पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं वहीं ये (भाजपा नेता) लोग सरकार कैसे गिरे, किस प्रकार से तोड़ फोड़ करें … खरीद फरोख्त करें इन तमाम काम में लगे हैं।’’ गहलोत ने कहा,‘‘राजस्थान में सरकार स्थिर है, स्थिर रहेगी …पांच साल चलेगी और अगला चुनाव जीतने की तैयारी में हम लग गए हैं।’’ गहलोत ने अपने संबोधन में भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ का नाम लिया।

उन्होंने कहा, ‘‘सतीश पूनियां हो, राजेंद्र राठौड़ हों.. ये जिस तरह का खेल खेल रहे हैं राजस्थान में सरकार को गिराने के लिए अपने केंद्रीय नेताओं के इशारे पर … ये तमाम बातें जनता के सामने आ चुकी हैं। जनता समझ चुकी है।’’ क्या वह इन तीनों को मुख्य किरदार मानते हैं यह पूछे जाने पर गहलोत ने कहा,‘‘ये तीन नाम तो मैंने इसलिए लिए क्योंकि तीन पदों पर बैठे हुए हैं इनके जो आका हैं दिल्ली में जिनकी में आलोचना हमेशा करता रहता हूं … चाहे वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हो या गृहमंत्री अमित शाह हों। वो सहन (टॉलरेट) नहीं कर पा रहे मुझे व मेरी सरकार को। इसलिए उनका लक्ष्य पूरा करने में इन तीनों में प्रतिस्पर्धा है।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles