तीन तलाक के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने जोर दे कर कहा कि तीन तलाक कोई धार्मिक मुद्दा नहीं है और शरीयत में इसका कोई प्रावधान नहीं है.

सूचना प्रसारण मंत्री  वेंकैया नायडू ने हैदराबाद में कहा कि तीन तलाक को शरीयत में मंजूरी दी ही नहीं गई है इसलिए ये इस्लाम से जुड़ा मुद्दा नहीं है. उन्होंने कहा, ये अऩ्य महिलाओँ की तरह मुस्लिम महिलाओं के लिए जीने का अधिकार और समानता के अधिकार से जुड़ा मामला है. ये समानता के अधिकार की बात है और महिलाओं को गरीमा के साथ रहने का पूरा अधिकार है.

नायडू ने कहा कि ‘यह भेदभाव क्यों…इसका अंत किया जाना चाहिए और इसका राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए.’ उन्होंने कहा,‘जो प्रधानमंत्री ने कल कहा उस पर मुस्लिम समुदाय को विचार करना चाहिए.’

कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा कि ‘कांग्रेस खुद को मुसलमानों का मसीहा कहती है, लेकिन उन्हें मुस्लिम महिलाओं की चिंता नहीं है, ये धर्म के आधार पर महिलाओं के साथ भेदभाव और असमानता बरतने का मामला है.’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस मुद्दे पर कई सालों तक चुप रही, उन्हें देश को जवाब देना चाहिए.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें