Friday, December 3, 2021

टिक टॉक बैन पर बोलीं TMC सांसद नुसरत जहां – नोटबंदी की तरह लिया गया बिना सोचे समझे फैसला

- Advertisement -

LAC पर चीन के हाथों कर्नल सहित 20 जवानों की शहादत के बाद केंद्र की मोदी सरकार ने टिकटॉक समेत चीन के 59 एप्स पर बैन लगाया है। तृणमूल कांग्रेस की सांसद और एक्ट्रेस नुसरत जहां ने सरकार के इस फैसले को आवेग में लिया गया फैसला बताया है। उन्होंने कहा कि सरकार को इन ऐप का भारतीय विकल्प देना चाहिए, क्योंकि इनसे कई लोगों की आजीविका जुड़ी है।

कोलकाता में इसकॉन की ओर से आयोजित उल्टा रथ यात्रा सेलिब्रेशन के दौरान मीडिया से बातचीत में उन्होने कहा, “टिक टॉक एक मनोरंजन एप है। यह आवेग में लिया गया फैसला है। रणनीतिक योजना क्या है? उन लोगों का क्या जो बेरोज़गार होंगे? लोगों को नोटबंदी की तरह इसे भी झेलना पड़ेगा। मुझे बैन से कोई दिक्कत नहीं क्योंकि ये राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए है। लेकिन इन सवालों का जवाब कौन देगा?

नुसरत ने आगे कहा कि अगर आप इस तरह के फैसले लेते हैं तो कुछ रणनीति और बैकअप प्लान होना ही चाहिए। सिर्फ एप्स पर बैन लगाने से चीन की कंपनियों को हराया नहीं जा सकता है। एलईडी बल्ब से लेकर घर में लगे एसी तक, चीन की कंपनियां हर जगह मौजूद हैं। इसका जवाब क्या है? क्या इसे काउंटर करने के लिए कोई रणनीति है?

उन्होंने आगे कहा, एक परफॉर्मर के तौर पर बात करूं तो मेरे लिए टिकटॉक सिर्फ एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जिसका सहारा लेकर मैं अपने फैंस को एंटरटेन कर सकती हूं। नुसरत ने ये भी कहा कि एप्स पर बैन लगाकर केंद्र सरकार लोगों की आंखों में धूल झोंक रही है और चौपट अर्थव्यवस्था से लोगों का ध्यान हटाने की कोशिश कर रही है।

टीएमसी सांसद ने कहा, अगर आप स्वदेशी मूवमेंट चलाना चाहते हैं तो सरकार को चाहिए कि वे गूगल और नासा में मौजूद एनआरआई लोगों को बुलाएं ताकि वे ऐसी एप्स बना सकें जिससे भारतीयों के लिए रोजगार के मौके पैदा हो सकें। इससे हमें चीन के एप्स की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। नोटबंदी की तरह ही एप्स पर प्रतिबंध लगाने से कुछ फायदा नहीं होना है।

बता दें कि चीन से संबंध रखने वाले 59 मोबाइल ऐप जो भारत में बैन किए गए हैं उस लिस्ट में टिक टॉक और यूसी ब्राउजर के अलावा वीचैट, बीगो लाइव, हैलो, लाइकी, कैम स्कैनर, वीगो वीडियो, एमआई वीडियो कॉल – शाओमी, एमआई कम्युनिटी, क्लैश ऑफ किंग्स के साथ ही ई-कॉमर्स प्लेटफार्म क्लब फैक्टरी, क्लैश ऑफ किंग्स और शीइन जैसे बड़े ऐप शामिल हैं।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles