नई दिल्ली | गुजरात में बाढ़ प्रभावित इलाको का दौरा करने पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी की गाडी पर हुए पथराव के बाद देश की राजनीती अचानक से गरमा गयी है. कांग्रेस ने इस हमले के लिए जहाँ बीजेपी और मोदी को जिम्मेदार ठहराया वही बीजेपी ने राहुल गाँधी को ही कठघरे में खड़ा करते हुए कई सवाल पूछ डाले. अब इस मामले में राहुल गाँधी ने भी अपनी चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने इसे बीजेपी और आरएसएस की राजनीती का तरीका करार दिया.

शनिवार को न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए राहुल गाँधी ने पूरी घटना के बारे में बताते हुए कहा की बीजेपी के वर्कर ने एक बड़ा पत्थर मेरी कार पर मारा जो आकर मेरे पीएसओ को लगा. यही बीजेपी और मोदी जी की राजनीती का तरीका है. इसके बारे में और क्या कहा जा सकता है. लेकिन हम इन हमलो से डरने वाले नही है. हम लोगो की आवाज बुलंद करते रहेंग, उनको जो करना है वो कर ले.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उन पर हुए हमले की निंदा नही करने पर राहुल ने कहा की जो लोग खुद हमला कराते है वो निंदा क्या करेंगे. राहुल ने कल भी इस हमले के बाद ट्वीट किया था,’नरेंद्र मोदी जी के नारों से, काले झंडों से और पत्थरों से हम पीछे हटने वाले नहीं हैं, हम अपनी पूरी ताकत लोगों की मदद करने में लगाएंगे.’ इस हमले पर आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने भी प्रतिक्रिया दी.

उन्होंने ट्वीट कर कहा,’गर आप ‘ऐसों’ पर भी पत्थर फेंक रहे हैं तो आप सचमुच ‘डरपोक’ हैं.’ बताते चले की राहुल गाँधी शुक्रवार को राजस्थान के दक्षिणी-पश्चिमी हिस्सों में आई बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लेने के बाद गुजरात पहुंचे थे. जब राहुल बनासकांठा पहुंचे तो लोगो ने यहाँ मोदी मोदी के नारे लगाते हुए उन्हें काले झंडे दिखाए. इसी दौरान किसी ने उनकी गाडी पर पत्थर फेंक दिया. जिसमे राहुल बाल बाल बच गए.

Loading...