Tuesday, May 17, 2022

दलित छात्र की मौत का मामला – यह आत्महत्या नही, सोची समझी साज़िश है ?

- Advertisement -

this-is-not-suicide-this-is-pre-planned-game

ये कोल्ड बल्डेड मर्डर है. सोचा समझ कर की गई हत्या.

बीजेपी का एक केंद्रीय मंत्री बंदारू दत्तात्रेय, दूसरी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को ऑफिशियल चिट्ठी लिखता है कि आंबेडकर स्टूडेंट्स एसोसिएशन पर कार्रवाई कीजिए. इस पर कार्रवाई होती है. स्मृति ईरानी के निर्देश पर वाइस चांसलर पांच छात्रों के सामाजिक बहिष्कार का नोटिस जारी करके है. जबकि इससे पहले यूनिवर्सिटी की प्रोक्टोरियल जांच में ये छात्र निर्दोष सिद्ध हो चुके हैं. दत्तात्रेय ईरानी से शिकायत करते हैं कि यूनिवर्सिटी नरमी बरत रही है.

दो आरोप है. आप दत्तात्रेय का पत्र देखें. फांसी पर ग्लोबल बहस में जब इस देश के कई जज, प्रोफेसर, मानवाधिकार कार्यकर्ता हिस्सा ले रहे हैं, तब कैंपस में इसपर सेमिनार करना अपराध बताया गया है. एबीवीपी के जिस छात्र ने मारपीट का आरोप लगाया था, वह खुद यूनिवर्सिटी को लिखकर माफी मांग चुका है. सामाजिक बहिष्कार अपने आप में क्रूरता है. दलितों को यह सजा देने के और भी मायने हैं.

यह कोल्ड ब्लड मर्डर है. सोच समझकर की गई हत्या. रोहित वेमुला की हत्या की गई है.

-दिलीप सी मंडल की फेसबुक वाल से 

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles