भारत में आईएसआईएस और अलकायदा जैसे खूंखार आतंकी संगठनों के कामयाब न होने का श्रेय मुस्लिमों को देते हुए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि मुस्लिमों की वजह से अलकायदा और आईएसआईएस जैसे संगठन भारत में अपनी जड़े जमाने में नाकाम रहे.

सीरिया के ग्रैंड मुफ्ती अहमद बदरुद्दीन हसन से मुलाकात में नकवी ने कहा कि भारत आतंकवाद के खिलाफ एक विश्वव्यापी मुहिम में अग्रणी भूमिका निभा रहा है और आतंकवाद के खिलाफ बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करने की नीति के तहत काम कर रहा है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

नकवी ने कहा, ‘भारत में अलकायदा, आईएसआईएस जैसे आतंकवादी संगठन अपनी जड़ें जमाने में नाकाम रहे हैं। भारत के हर तबके के साथ-साथ यहां के मुसलमानों ने भी ऐसी शैतानी ताकतों के मंसूबों को नाकाम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.’

उन्होंने कहा कि भारत के संस्कार संस्कृति, अमन, भाईचारे और इंसानी मूल्यों से भरपूर है. मंत्री ने कहा कि हजरत इमाम हुसैन का कर्बला के मैदान में दहशतगर्दी और जुल्म के खिलाफ दिया सन्देश इस्लाम और इंसानियत के लिए हमेशा सार्थक सबक है.

नकवी ने कहा, ‘भारत विभिन्न धर्मों, भाषाओं का बड़ा देश है फिर भी हमारी एकता और सौहार्द की संस्कृति देश को एकजुटता और लोकतान्त्रिक मूल्यों के ताने-बाने के साथ जोड़े हुए है। भारत की यही ताकत इंसानियत और अमन की दुश्मन ताकतों को शिकस्त देती है.’

सीरिया के ग्रैंड मुफ्ती हसन ने कहा, ‘भारत की एकता, भाईचारा, सौहार्द की ताकत दुनिया भर के लिए प्रेरणा है, एक मिसाल है. भारत ने हमेशा ही आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. उन्होंने कहा, ‘इस्लाम ने हमेशा ही आतंकवाद एवं अन्य सभी प्रकार की हिंसा के खिलाफ मजबूत सन्देश दिया है. इस्लाम ने हमेशा ही मानवता, भाईचारे, सौहार्द का सन्देश दिया है.

Loading...