Wednesday, January 19, 2022

इजराइल के खिलाफ जाकर भारत ने UN में की फिलिस्तीन के लिए वोटिंग

- Advertisement -

यूएन: मंगलवार को हुई संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में भारत ने इजराइल के खिलाफ जाकर फिलिस्तीनियों के आत्म-संकल्प के अधिकार से संबंधित प्रस्ताव का समर्थन किया। इसके साथ ही 1967 में शुरू हुए इजरायल के कब्जे को खत्म किए जाने पर भी जोर दिया गया है। इसमें कहा गया है कि, संयुक्त राष्ट्र के संकल्पों के अंतर्गत फिलिस्तीन और इजरायल के बीच एक न्यायपूर्ण और समावेशी शांति समझौता कायम हो।

भारत समेत 165 देशों ने फिलिस्तीन के पक्ष में वोट किया। केवल इजरायल, अमेरिका, नाउरु, माइक्रोनेशिया और मार्शल आइलैंड ने प्रस्ताव के खिलाफ मतदान किया। वहीं 9 देशों ने इस वोटिंग से दूरी बना ली, इसमें ऑस्ट्रेलिया, गुएंटेमाला और रवांडा भी शामिल हैं। बता दें कि, ये प्रस्ताव उत्तर कोरिया, निकारगुआ, मिस्त्र, फिलिस्तीन और जिम्बॉब्वे द्वारा लाया गया था। प्रस्ताव पर सभी देशों ने 19 नवंबर को वोट डाले। विवादित फिलिस्तीन क्षेत्र में इजरायली बसावट को लेकर अमेरिका के अपनी नीति बदलने के एक दिन बाद इस मतदान को करवाया गया है।

दरअसल, अमेरिका ने कब्जे वाले वेस्ट बैंक पर चार दशक पुरानी अपनी विदेश नीति में बदलाव किया। अंतरराष्ट्रीय कानून के मुताबिक, वेस्ट बैंक में इजराइल की ओर से की गई बसावट अवैध है लेकिन इजराइल ऐसा नहीं मानता। दो दिन पहले अमेरिका ने भी इजरायल के रुख का समर्थन कर दिया।

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने सोमवार को कहा कि बसावट को अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन बताने से कुछ हासिल नहीं हुआ और इससे शांति का मार्ग भी प्रशस्त नहीं हुआ। लेकिन संयुक्त राष्ट्र की ओर से अमेरिका के बयान की आलोचना की गई।

मंगलवार को UN प्रवक्ता स्टीफेन दुजारिक ने प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि, UN अपने पुराने रुख पर ही कायम है कि विवादित फिलिस्तीन क्षेत्र में इजरायल की बसावट अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है।

विदेश मंत्रालय के अनुसार, फिलिस्तीन का समर्थन करना भारत की विदेश नीति का अभिन्न अंग है। साल 1974 में भारत ऐसा पहला गैर-अरब देश बना, जिसने फिलिस्तीन मुक्ति संगठन को मान्यता दी। इसके अलावा साल 1988 में भारत फिलिस्तीन को मान्यता देने वाले अग्रणी देशों में से एक था। भारत ने कई मंचों पर फिलीस्तीन का समर्थन किया है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles