sharad

नोटबंदी को लेकर हुई मौतों के लिए एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि नोटबंदी के चलते हुई देशभर में हुई मौतों की जिम्मेदारी केंद्र सरकार है.

उन्होंने नोटबंदी की आलोचना करते हुए कहा कि नोटबंदी किसान, और मजदूरों पर बेहद महँगी साबित हुई हैं. सरकार ने बिना तैयारी ही नोटबंदी लागू कर दी साथ ही सरकार पर्याप्त वयवस्था करने में भी असफल साबित हुई. उन्होंने कहा कि इसका  इंडस्ट्री पर विपरीत परिणाम पड़ा है और नौकरियों पर भी असर पर रहा है. इसके साथ ही उन्होने कहा कि हम पहले कह चुके हैं कि अगर कालाधन खत्म करने के लिए नोटबंदी का फैसला लिया गया तो एनसीपी समर्थन करती है.

प्रधानमंत्री द्वारा नोटबंदी के मामले में इंदिरा गांधी को शामिल किये जाने को लेकर भी पवार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की हैं. उन्होंने सवाल किया कि अटल बिहारी वाजपेयी सहित अन्य प्रधानमंत्रियों और वित्त मंत्रियों ने भी नोटबंदी के उस प्रस्ताव पर अमल क्यों नहीं किया?

पवार ने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू, लालबहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी, वाजपेयी, मोरारजी देसाई, चौधरी चरण सिंह सभी ने देश के विकास में योगदान किया है. इसलिए यह कहना गलत होगा कि विकास सिर्फ पिछले दो वर्षों में ही हुआ है. उन्होंने कहा कि पूरे 70 साल कांग्रेस सत्ता में भी नहीं रही. 13 साल तो स्वयं मोदी एक राज्य के मुख्यमंत्री रहे हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें