कश्मीर घाटी में उपचुनाव के दौरान हुई पत्थरबाजी का मामला गरमाया हुआ हैं. एक तरफ चुनाव आयोग दोबारा से चुनाव कराने की तैयारी में हैं. वहीँ दूसरी तरफ विपक्ष में बेठी नेशनल कांफ्रेंस ने राज्य की बीजेपी-पीडीपी सरकार पर पैसा देकर पत्थरबाजी कराने का आरोप लगाया हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि राज्य के कई पत्थरबाजों को सरकार पैसा देती है. इस बार के उपचुनाव में भी जमकर पत्थरबाजी की गई, और इसका मकसद लोगों के बीच खौफ कायम करना था ताकि लोग वोट देने ना निकल सकें. उन्होंने इस पुरे मामलें की जांच की मांग की.

उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि कश्मीर में पत्थर फेंकने वाले सारे नौजवान एक जैसे नहीं होते हैं. क्या देश इन नौजवानों के भविष्य को लेकर चिंतित है. हाल ही में उन्होंने कहा था कि वे भूखों मर जाएंगे लेकिन अपने वतन के लिए ऐसा करते रहेंगे, ये लोग कश्मीर मुद्दे के हल के लिए अपनी जान दे रहे हैं हम लोगों को ये समझने की जरूरत है.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पत्थरबाजों के समर्थन में बयान देने को लेकर सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा, आपको देखना होगा कि इन नौजवानों की दिक्कत क्या है, क्या आपको नहीं लगता कि इन्हें भी कुछ परेशानी है, आपको सिर्फ देश की पड़ी है, क्या देश को इन नौजवानों और इनके भविष्य की चिंता है.

Loading...