ram mandir 620x400

हिंदुत्व की राह पकड़ चुकी समाजवादी पार्टी अब राम मंदिर के मुद्दे को भुनाने में लगी हुई है। समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर ने ऐलान किया कि अगले 6 महीनों में अयोध्‍या में राम मंदिर बन जाएगा।

एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि “मैं भी भगवान राम का भक्त हूं और मुझे विश्वास है कि आगामी लोकसभा चुनावों को देखते हुए अगले 3-6 महीनों में हम अयोध्या में राम मंदिर बनता हुआ देखेंगे।”

इससे पहले संत समाज भी अयोध्या में मंदिर निर्माण को लेकर केन्द्र सरकार को अल्टीमेटम दे चुका है, वहीं शिवसेना ने भी ऐलान कर दिया है कि दीपावली के बाद शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे, लाखों शिवसैनिकों के साथ अयोध्या जाएंगे और राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरु करेंगे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीं सपा नेता ने इस मुद्दे पर बीजेपी पर निशाना साधा, उन्होंने कहा कि बीजेपी को चुनाव के समय ही भगवान राम याद आते हैं। इससे पहले नहीं। बीजेपी राम मंदिर के नाम पर लोगों की जन भावनाओं से खेलती है। ऐसा ही बयान  विहिप के पूर्व अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया का भी आया है।

उन्होने कहा, नवंबर 2017 में उडुपी में आयोजित धर्म संसद में कानून बनाकर राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण आरंभ करने का प्रस्ताव पारित होना था लेकिन अंतिम क्षणों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दबाव में यह प्रस्ताव रद्द करना पड़ा। उन्होंने दावा किया कि भाजपा के दबाव में संघ के सरकार्यवाह सुरेश भैयाजी जोशी ने न सिर्फ यह प्रस्ताव धर्म संसद में आने नहीं दिया बल्कि उन्हें ही विहिप से निष्कासित करवा दिया।

अब अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद (अहिप) के अध्यक्ष तोगड़िया ने आरोप लगाया कि सत्ता में आने के बाद भाजपा ने राम का नाम त्याग दिया और अब चुनाव की आहट सुनते ही उसे फिर राम याद आने लगे।

Loading...